Jammu Kashmir News: अल्पसंख्यक हिंदुओं की सुरक्षा के लिए सरकार का मेगा प्लान

 
Jammu Kashmir News: Government's mega plan for the safety of minority Hindus
जम्मू-कश्मीर के राजौरी और पुंछ जिलों में सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए बड़ी संख्या में सीआरपीएफ की 20 से अधिक कंपनियों को तैनात किया जा रहा है जिनमें दो हजार से अधिक जवान शामिल हैं।

Jammu Kashmir News: जम्मू-कश्मीर में नये साल की शुरुआत ही आतंकवादी हमले से होने के चलते केंद्र शासित प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत होने के सरकारी दावों पर सवाल उठ खड़े हुए हैं। खासतौर पर सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले हिंदू अल्पसंख्यकों के मन में भय व्याप्त हुआ है जिसको देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा को और बढ़ाने का अहम निर्णय लिया है।

Jammu Kashmir News: Government's mega plan for the safety of minority Hindus

हम आपको बता दें कि जम्मू में सीमावर्ती जिलों राजौरी और पुंछ में अल्पसंख्यक क्षेत्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के वास्ते केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के दो हजार से अधिक जवानों को तैनात किया जा रहा है। इस संबंध में एक अधिकारी ने कहा, ‘‘राजौरी और पुंछ जिलों में सुरक्षा मजबूत करने के लिए बड़ी संख्या में सीआरपीएफ की 20 से अधिक कंपनियों को तैनात किया जा रहा है जिनमें दो हजार से अधिक जवान शामिल हैं।’’ उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के महानिरीक्षक और अन्य शीर्ष अधिकारी जवानों की तैनाती की निगरानी कर रहे हैं।

Jammu Kashmir News: Government's mega plan for the safety of minority Hindus

इस बीच, राजौरी के उपायुक्त विकास कुंडल ने बुधवार को दोहरे आतंकवादी हमलों में घायल हुए आठ लोगों को एक-एक लाख रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान की। उन्होंने सरकारी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) अस्पताल का दौरा किया और वहां इलाज करा रहे घायलों का हालचाल पूछा।

Jammu Kashmir News: Government's mega plan for the safety of minority Hindus

हम आपको बता दें कि उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने पहले हमलों में मारे गए लोगों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को एक-एक लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की थी। कुंडल ने घायलों से बातचीत की और शोक संतप्त परिवारों के साथ एकजुटता भी व्यक्त की। उन्होंने उन्हें प्रशासन की ओर से हर संभव सहयोग और सहायता का आश्वासन दिया। उन्होंने अस्पताल के कर्मियों को घायलों को हर संभव इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया।

Jammu Kashmir News: Government's mega plan for the safety of minority Hindus

इस बीच, राजौरी के जिस डांगरी गांव में हिंदुओं को निशाना बनाया गया था वहां के लोगों ने अब अपनी सुरक्षा खुद करने की तैयारी भी कर ली है। स्थानीय लोगों की प्रशासन से मांग है कि युवाओं को हथियारों का प्रशिक्षण दिया जाये ताकि जरूरत पड़ने पर वह आतंकवादियों का मुकाबला कर सकें।

उधर, राजौरी में हुई इस घटना के विरोध में कश्मीर घाटी में भी जनाक्रोश देखने को मिला। राजौरी में हत्याओं के खिलाफ स्थानीय लोगों ने राजनीतिक कार्यकर्ताओं के साथ श्रीनगर में विरोध प्रदर्शन किया।

Jammu Kashmir News: Government's mega plan for the safety of minority Hindus

लोगों ने कहा कि यदि सरकार और स्थानीय प्रशासन अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा पा रहा है तो यह हैरत की बात है। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि भाजपा वाले बात तो पीओके को वापस लाने की करते हैं लेकिन यहां के कश्मीर के हालात को नहीं संभाल पा रहे हैं।