Budh Rashi Parivartan: इन 5 राशियों की जिंदगी में आ सकता है भूचाल, 19 जुलाई तक रहें संभलकर

 
Budh Rashi Parivartan

Budh Rashi Parivartan 2024: हर ग्रह कुछ समय में गोचर करता है। इसमें बुद्धि, व्यापार, संचार और तर्क के कारक बुध का गोचर काफी महत्वपूर्ण होता है। बुध राशि परिवर्तन से मनुष्य के जीवन के साथ-साथ देश-दुनिया में बड़े बदलाव आते हैं।

अब बुध राशि परिवर्तन कर कर्क राशि में प्रवेश करने वाले हैं, इस दिन शनि भी चाल बदलकर वक्री हो जाएंग। इसका इन 5 राशि के लोगों को भयंकर नुकसान हो सकता है। बुध का कर्क राशि में गोचर इन राशियों को रूलाएगा खून के आंसू। आइये जानते हैं कौन हैं वो लकी राशियां ….

Budh Rashi Parivartan

मेष राशि - बुध का रशि परिवर्तन मेष राशि वालों के लिए आर्थिक जीवन में परेशानियां लाएगा। परिवार और अन्य जिम्मेदारियों की वजह से आप परेशान रहेंगे। इस समय मेष राशि वालों को अपने काम पर ध्यान देने में मुश्किल आएगी, जो आपके प्रदर्शन को भी प्रभावित करेगी। 

बुध का कर्क राशि में गोचर के कारण मेष राशि वालों को मेहनत का फल नहीं मिलेगा। सराहन न मिलने से निराशा और चिंता रहेगी। मेष राशि के जो लोग व्यापार कर रहे हैं, उन्हें इस समय अच्छा लाभ नहीं मिलेगा। आपको व्यापार चलाने में भी कुछ समस्या आ सकती है। इस समय लाभ में कमी आएगी। बुध गोचर के कारण प्रतिद्वंद्वी टक्कर देंगे और परिस्थितियों को संभालना मुश्किल लगेगा।

वृषभ राशि - वृषभ राशि वालों के लिए बुध गोचर करियर और आर्थिक जीवन के लिए मिलाजुला है। इस समय करियर में ज्यादा लाभ या नौकरी के नए अवसर मिलने की संभावना कम है। इस समय वृषभ राशि वालों का स्थानांतरण हो सकता है या फिर विदेश जाने का मौका मिल सकता है, यह आपके लिए शुभ फलदायक भी रहेगा।

Budh Rashi Parivartan

लेकिन बुध गोचर अवधि में 19 जुलाई तक आपको यात्रा में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जिन लोगों का अपना व्यापार है, उन्हें थोड़ा सा लाभ कमाने के लिए भी मशक्क्त करनी पड़ेगी। प्रतिद्वंद्वियों से आगे निकलने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।

मिथुन राशि - मिथुन राशि वालों के लिए बुध राशि परिवर्तन मिथुन राशि वालों की सुख-सुविधाओं में कमी ला सकती है। इन लोगों को मिलने वाले लाभ में भी देरी हो सकती है। बुध गोचर घर-परिवार में सदस्यों के साथ समस्याओं को उभार सकता है।

किसी गलतफहमी से आपका सदस्यों के साथ वाद-विवाद हो सकता है जिससे घर का वातावरण अशांत रह सकता है। मिथुन राशि के करियर पर नजर डालें तो बुध का कर्क राशि में गोचर अनुकूल नहीं है। अधिक काम की वजह से मिथुन राशि वाले थोड़े व्यस्त रहेंगे।

Budh Rashi Parivartan

आप कभी-कभी काम पूरा करने में असमर्थ भी रह सकते हैं। हालांकि विदेश में काम करने वाले लोगों के लिए बुध का कर्क राशि में गोचर फलदायी साबित होगा। वहीं, कुछ लोगों का ट्रांसफर अचानक से विदेश में हो सकता है। जो लोग व्यापार करते हैं।

उन्हें अच्छा लाभ कमाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। जो लोग साझेदारी में व्यापार करते हैं तो उनके सामने समस्या आएगी। आपसी विवाद से बिजनेस पर नकारात्मक असर पड़ेगा।

सिंह राशि - बुध राशि परिवर्तन कर्क राशि में सिंह राशि के लोगों के लिए थोड़ा मुश्किल समय लाएगा। आपकी प्रगति में देरी होगी, समस्या आएगी। इस राशि के जो लोग विदेश में काम करते हैं, वह इस दौरान अच्छी कमाई करने के साथ-साथ बचत करने में भी सफल होंगे।

Budh Rashi Parivartan

इन लोगों के सामने ऐसी परिस्थितियां आ सकती हैं जिसमें आय और व्यय में संतुलन बनाना पड़े। बुध गोचर परिवार में समस्याएं उभार सकता है। सिंह राशि वालों के करियर के यह समय ठीर नहीं है। इस समय सिंह राशि के लोगों को परेशानी हो सकती है।

आप पर काम का अधिक दबाव रहेगा। बुध गोचर से सहकर्मियों के साथ भी समस्या हो सकती है। इससे आपकी एकाग्रता कमजोर होगी। इन परिस्थितियों का सीधा असर नौकरी में आपके प्रदर्शन पर पड़ेगा। इससे पदोन्नति में देरी हो सकती है।

जो लोग अपना व्यापार करते हैं, उन्हें सफलता के लिए योजनाओं में बदलाव लाना होगा। व्यापार की कमान खुद के हाथों में लेनी होगी।

धनु राशि - धनु राशि वालों के लिए बुध गोचर मुश्किल समय लाएगा। यदि आप साझेदारी में बिजनेस कर रहे हैं तो पार्टनर के साथ समस्याओं का सामना करना होगा। व्यापार के लिए ज्यादा अनुकूल समय नहीं हो। इस समय लाभ भी कम रहेगा।

यह समय धनु राशि के नौकरीपेशा लोगों के लिए कठिन है। इस समय नौकरी छूटने या नौकरी में बदलाव की कोई घटना घट सकती है। करियर के लिए बुध गोचर उत्साहवर्धक नहीं है। इस समय में आप पर दबाव बढ़ सकता है जिसे संभालना मुश्किल होगा।

संभव है कि इस समय काम में कड़ी मेहनत करने के बाद भी आपको सराहना न मिले जो आपको परेशान करेगी।

बुध के कर्क राशि में गोचर का अचूक उपाय - 19 जुलाई तक बुध गोचर की अवधि में विघ्नहर्ता गणेश की उपासना करें और उन्हें दूर्वा घास के साथ-साथ देशी घी से बने लड्डू का भोग लगाएं। बुध ग्रह के लिए यज्ञ-हवन करें। परिवार की स्त्रियों को कपड़े और हरे रंग की चूड़ियां उपहार में दें। किन्नरों का आशीर्वाद लें और प्रतिदिन गाय को हरा चारा खिलाएं। पक्षियों को भीगे हुए हरे चने खिलाएं।