Sanjay Singh AAP: मेरे तीन भाई जेल में हैं, बाहर आने पर मनेगा जश्न : Anita Singh

 
Sanjay Singh AAP
संजय सिंह ILBS अस्पताल में भर्ती, डॉक्टरों ने की बायोप्सी, कल पहुंच सकते हैं घर

Sanjay Singh AAP: आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह करीब छह माह बाद बुधवार को घर लौट सकते हैं। फिलहाल, लिवर से जुड़ी बीमारी के इलाज के लिए वे लिवर और पित्त विज्ञान संस्थान (आईएलबीएस) अस्पताल में भर्ती हैं। अस्पताल में लिवर की बायोप्सी की गई है।

इस जांच के बाद रिपोर्ट के आधार पर आगे का इलाज होगा। वहीं, सुप्रीम कोर्ट से जमानत की खबर सुनने के बाद संजय सिंह के समर्थक ढोल के साथ उनके सरकारी आवास पर पहुंचे। यहां उन्होंने संजय सिंह की पत्नी अनीता सिंह को शुभकामनाएं दीं।

पत्नी ने कहा कि यह संघर्ष लंबा है और आगे भी इसी तरह से जारी रहेगा। जब तक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन जेल से बाहर नहीं आ जाते, तब तक संघर्ष जारी रहेगा।

Sanjay Singh AAP:

संजय सिंह के बाहर आने का हम जश्न नहीं मना रहे हैं। जमानत के लिए हम अदालत को धन्यवाद देते हैं। संभावना है कि संजय बुधवार को घर आ जाएंगे। संजय सिंह की पत्नी अनीता सिंह ने कहा कि मेरे तीन भाई अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसौदिया और सत्येन्द्र जैन अभी भी सलाखों के पीछे हैं।

उनके बाहर आने के बाद जश्न मनाया जाएगा। सभी के बाहर आने तक यह खुशी अधूरी रहेगी। यह सत्य की जीत है। संजय की मां राधिका ने कहा कि बेटे को पेट में संक्रमण हो गया है। उससे जुड़ा इलाज चल रहा है। सुबह मैं संजय से मिलकर आई हूं। वह ठीक है।

मंगलवार देर शाम अनीता भी उससे मिलने चली गई। हम उम्मीद कर रहे हैं कि बुधवार शाम तक संजय पूरे परिवार के साथ घर पर होगा। सभी मिलकर रात का खाना खाएंगे। मां राधिका ने कहा कि भाजपा ने बिना किसी कारण छह माह तक संजय को जेल में रखा।

Sanjay Singh AAP:

उसका कोई कसूर नहीं था, लेकिन परेशान किया जा रहा है। सच कभी हार नहीं सकता। संजय के लौटने की खुशी में पिता दिनेश सिंह भी दिल्ली आ रहे हैं। वे बुधवार शाम तक सुल्तानपुर से दिल्ली पहुंच जाएंगे। वे बहुत खुश हैं और उन्होंने पैतृक स्थान पर मिठाइयां बांटी हैं। हनुमान मंदिर में प्रसाद भी चढ़ाया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली के मंत्री, आम आदमी पार्टी के सभी विधायक व पार्षद पहली बार सुनीता केजरीवाल से मिले। मुख्यमंत्री आवास पर इस दौरान सभी ने दावा किया कि दिल्ली सरकार जेल से चलेगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं है। इस दौरान सभी विधायकों ने अरविंद केजरीवाल के साथ एकजुट खड़े रहने का दावा किया। साथ ही कहा कि दिल्ली की दो करोड़ जनता उसके साथ खड़ी है। मुख्यमंत्री को अपने पद से इस्तीफा नहीं देना चाहिए।

Sanjay Singh AAP:

भाजपा तो चाहती है कि वह इस्तीफा दें। इसके लिए भाजपा कैंपेन भी चलाएगी, लेकिन जब वो इस्तीफा दे देंगे तो यही भाजपा कहेगी कि वो भाग गए। सुनीता केजरीवाल विधायकों का यह संदेश अरविंद केजरीवाल तक पहुंचाएगी।

बैठक के बाद मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि करीब दो दर्जन विधायकों ने अपनी बात सुनीता केजरीवाल के सामने रखी। उन्होंने कहा कि भाजपा इस्तीफे के लिए अभियान चलाएगी। इससे पहले लोकपाल बिल के समय पर जब वो पास नहीं हो पाया था, तब सीएम पर इस्तीफे का दबाव बनाया गया था।

जब उन्होंने इस्तीफा दे दिया तो कहा गया कि वो भाग गए। मुख्यमंत्री आवास पर विधायकों के बाद आम आदमी पार्टी के सभी पार्षद पहुंचे। सभी पार्षदों ने कहा कि वें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ हैं। इस संकट के घड़ी में पार्षद आप के साथ खड़े हैं और भाजपा की कोशिश पूरी नहीं होने देंगे।

Sanjay Singh AAP:

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने संदेश में कहा कि जेल की सलाखें भाजपा के लिए मुश्किल बढ़ाएगी। उन्होंने कहा कि ये बात हम सबको समझ आ रही है कि जब तक जेल में रहेंगे, भाजपा के लिए मुश्किलें और बढ़ती जाएंगी।

दरअसल सुनीता केजरीवाल के माध्यम से सीएम केजरीवाल ने जेल से आप के सभी कार्यकर्ताओं और समर्थकों को संदेश भेजा है। इसमें कहा कि मेरी चिंता न करें। मैं ठीक हूं, मजबूत हूं और मेरे इरादे पहले से ज्यादा मजबूत हैं।

सीएम केजरीवाल को इस बात पर गर्व है कि उनके जाने के बाद भी उनके विधायकों, पार्षदों और संगठन के लोगों ने मिलकर रामलीला मैदान में इतनी बड़ी रैली का आयोजन किया।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली में सत्ता हासिल करने का सपना देख रही भाजपा को अभी लंबा इंतजार करना होगा। पिछले 25 सालों भाजपा इसी कोशिश में लगी हुई है, लेकिन उसका सपना पूरा नहीं हुआ। आने वाले दिनों में भी यह सपना पूरा होना आसान नहीं है।