SI Bharti exam update news: नकल कर पास हुई थी मां, अब तीन महीने की मासूम बच्ची को छोड़कर महिला थानेदार जाएगी जेल

 
SI Bharti exam update news
थानेदारों मेंं एक ऐसी अभागी मां भी शामिल है जिसे अपनी तीन महीने की बच्ची से दूर होना होगा।

SI Bharti exam update news: एसआई भर्ती परीक्षा में लगभग हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। तेरह दिन की रिमांड पूरी हो गई है चौदह थानेदारों की.....। आज सभी को जेल यात्रा करनी होगी। सभी को जेल भेजने की तैयारी चल रही है।

आज दोपहर में एसओजी की टीम सभी को कोर्ट में पेश करेगी। एसओजी तीन बार इन थानेदारों का रिमांड मांग चुकी है और तीनों बार ही रिमांड मिल भी गया है। इन थानेदारों मेंं ऐक ऐसी अभागी मां भी शामिल है जिसे अपनी तीन महीने की बच्ची से दूर होना होगा। 

दरअसल थानेदार की परीक्षा देने के बाद जोधपुर की चंचल विश्नोई ने भी परीक्षा पास कर ली थी। उसके हिस्ट्रीशीटर पिता ने जेल में बेटी के लिए पेपर का इंतजाम किया था। जेल में ही पेपर लीक का मास्टर माइंड ... गुरु... बंद था।

SI Bharti exam update news

उससे संपर्क कर पिता ने बेटी के लिए पेपर निकलवाया और बेटी को थानेदार बनवाया। पास होने के बाद चंचल ट्रेनिंग करने लगी , लेकिन इस बीच नकल का भांडा फूट गया और चंचल समेत चौदह ट्रेनी थानेदारों को ट्रेनिंग से ही उठा लिया गया।

इस बीच चंचल की शादी भी हो गई। उसके अब तीन महीने की बच्ची है। चंचल को कल जब एसओजी ने कोर्ट में पेश किया था तब मां और बेटी की मुलाकात हुई। बेटी मां के पास जाने को रोने लगी, लेकिन बाद में उसे उसकी नानी को सौंप दिया गया।

SI Bharti exam update news

चंचल रोते हुए एसओजी की बस में बैठ गई और फिर कोर्ट से चली गई......। उधर बेटी अपनी मां का इंतजार कर रही है। उसे नहीं पता उसकी मां नकल कर पास हुई है और अब गिरफ्तार हो गई है। एसआई भर्ती परीक्षा 2021 में पेपर लीक कर पास हुए 14 प्रशिक्षु एसआई को मंगलवार को एसओजी ने कोर्ट में पेश किया गया।

एसओजी ने कोर्ट से सभी आरोपियों की 9 दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने 6 दिन की रिमांड दी। रिमांड अवधि पूरी होने पर मंगलवार को फिर से सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। एसओजी की टीम पहले 6 महिला ट्रेनी एसआई को कोर्ट लेकर पहुंची, इसके बाद 8 पुरुष एसआई को कोर्ट में पेश किया गया।

SI Bharti exam update news

पिछली सुनवाई में महिला और पुरुष एसआई से कोर्ट में हुई मारपीट के चलते इस बार कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। गौरतलब है कि 29 फरवरी को एसओजी की गिरफ्त में आए जेईएन भर्ती पेपर लीक के मास्टरमाइंड जगदीश विश्नोई (41) से हुई पूछताछ के बाद कई चौंकाने वाली जानकारी सामने आई थी।

जगदीश ने बताया था कि एसआई भर्ती 2021 में भी तमाम कैंडिडेट्स को पेपर उपलब्ध कराए गए थे। जांच करने पर आरपीए में ट्रेनिंग कर रहे सब-इंस्पेक्टर (एसआई) संदिग्ध पाए गए। उनके शैक्षणिक दस्तावेजों की प्रारंभिक जांच में डिग्रियों के रिकॉर्ड में हेरफेर होना पाया गया।

SI Bharti exam update news

ऐसे में एसओजी ने 40 एसआई को चिह्नित किया, इनमें से 23 एसआई की डिग्रियां फर्जी मिली हैं। अब एसओजी अन्य दस्तावेजों की भी जांच कर रही है। एफएसएल की टीम ने गिरफ्तार 14 एसआई के हस्ताक्षर व हैंड राइटिंग के नमूने लिए।

जयपुर में जांच के दौरान सभी से खुद के 32 हस्ताक्षर करवाने के साथ पैराग्राफ लिखवाया गया। जिन प्रशिक्षु उप निरीक्षक की गिरफ्तारी हुई है, उनमें नागौर के पुलिस उप अधीक्षक ओमप्रकाश गोदारा का बेटा भी शामिल है।

गिरफ्तार एसआई करणपाल गोदारा की 22वीं रैंक थी। बेटे की गिरफ्तारी के दिन से ओमप्रकाश अवकाश पर हैं। एसओजी के अतिरिक्त महानिदेशक वी.के. सिंह ने बताया कि पेपर लीक मामले में भाई-बहन को अरेस्ट किया गया है।

SI Bharti exam update news

2014 बैच का एसआई जगदीश सिहाग वर्तमान में भरतपुर एसपी के पास कार्यरत था और उसकी बहन इंदूबाला ट्रेनिंग कर रही थी। इन दोनों को अरेस्ट किया गया है। इंदूबाला के स्थान पर वर्षा कुमारी ने परीक्षा दी थी एक अन्य अभ्यर्थी भगवती देवी के स्थान पर भी वर्षा कुमारी ने परीक्षा दी थी।

पुलिस वर्षा कुमारी को पहले ही अरेस्ट कर चुकी है। भगवती देवी की तलाश की जा रही है। वर्षा कुमारी ने एसआई परीक्षा पास कर ली थी, लेकिन ज्वाइन नहीं किया था।