Sukhdev Singh Murder: लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने की करणी सेना के अध्यक्ष की हत्या, एक हमलावर ढेर

 
Sukhdev Singh Murder
जयपुर से राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष की बदमाशों द्वारा ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या करने का मामला सामने आया है। घर में घुसकर किए गए हमले में तीन लोग गंभीर घायल हुए थे, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। लेकिन इलाज के दौरान सुखदेव सिंह की मौत हो गई। 

Sukhdev Singh Murder: राजस्थान की राजधानी जयपुर में नई सरकार के सामने लॉरेंस बिश्नोई गैंग ने बड़ी चुनौती पेश करते हुए राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की घर में घुसकर हत्या कर दी।

लॉरेंस बिश्नोई गैंग के रोहित गोदारा कपूरीसर और गोल्डी बरार ने इस हत्या की जिम्मेदारी ली है। इसके बाद राजनीतिक हस्तियों ने गोगामेड़ी की मौत पर दुख प्रकट किया है। हमले का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है, जिसमें गोगामेड़ी से बातचीत करने पहुंचे बदमाशों ने अचानक ही उन पर फायरिंग कर दी।

Sukhdev Singh Murder

किसी को संभलने का मौका तक नहीं दिया। घटनास्थल पर पहुंचे जयपुर पुलिस आयुक्त बीजू जॉर्ज जोसफ ने कहा कि तीन लोग बाहर से सुखदेव जी से मिलने आए थे। सिक्योरिटी से अनुमति मिलने के बाद तीनों अंदर गए। दस मिनट उनमें बातचीत हुई।

इसके बाद सुखदेव जी पर फायरिंग हुई। अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई है। हमले के समय उनके पास सिक्योरिटी गार्ड खड़ा था, उसे भी गोली लगी है। वह आईसीयू में है। क्रॉस फायर में एक हमलावर की भी मौत हो गई है।

Sukhdev Singh Murder

उसका नाम नवीन सिंह शेखावत है। मूल रूप से शाहपुरा के पास का रहने वाला है। अभी जयपुर में रह रहा था। दोनों हमलावरों की तलाश में पुलिस ने नाकाबंदी कर दी है। जगह-जगह बैरिकेटिंग कर हमलावरों को तलाशा जा रहा है। 

सीसीटीवी में कैद हुए दो बदमाश - सुखदेव सिंह जिस कमरे में बैठे थे, वहां का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। हमलावरों ने बैठकर सुखदेव सिंह से बातचीत की। उस समय वहां चार लोग और मौजूद थे। दो हमलावरों ने बंदूकें निकाली और फायरिंग शुरू कर दी।

Sukhdev Singh Murder

सुखदेव सिंह के साथ बैठे एक शख्स को भी गोली मारी गई है। हमले के बाद दो बदमाश बाइक से भागे और दो बदमाशों ने वहां एक स्कूटी सवार को गोली मारी और उससे स्कूटी छीनी। सुखदेव सिंह की SMS अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

पुलिस घर के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज और अन्य माध्यमों के जरिए आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। चारों बदमाशों में से दो सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गए हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। 

Sukhdev Singh Murder

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी श्याम नगर स्थित घर में लोगों से मिल रहे थे। वहीं उन्हें और उनके गनमैन नरेंद्र को भी गोलियां मारी गई। सूचना मिलने पर श्याम नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। बताया जा रहा है कि लॉरेंस बिश्नोई गैंग के संपत नेहरा ने इससे पहले भी सुखदेव सिंह को धमकी दी थी।

तब मामले को लेकर जयपुर पुलिस को ज्ञापन सौंपा गया था। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के मामले में गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के रोहित गोदारा कपूरीसर और गोल्डी बरार ने हमले की जिम्मेदारी ली है। हत्या के कुछ देर बाद ही सोशल मीडिया पर एक फेसबुक पोस्ट वायरल हो गई।

Sukhdev Singh Murder

इसमें रोहित गोदारा कपूरीसर के अकाउंट से दावा किया गया है कि सुखदेव गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी हम लेते हैं। यह हत्या हमने करवाई है। यह हमारे दुश्मनों से मिलकर उनका सहयोग करता था। उन्हें मजबूत करता था।

साथ ही पोस्ट में दुश्मनों को धमकी भी दी गई है कि वह भी अपनी अर्थी को तैयार रखें। गोगामेड़ी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया था, जहां उनकी मौत हो गई। फायरिंग की इस घटना की जानकारी जैसे ही सोशल मीडिया पर लोगों तक पहुंची तो उनके समर्थक और समाज से जुड़े लोग अस्पताल पहुंच गए।

Sukhdev Singh Murder

पुलिस ने उन्हें अस्पताल में जाने से रोका।  वहां भी पुलिस का बंदोबस्त बढ़ाया गया है। इस घटना के बाद अब शहर में माहौल खराब नहीं हो, इसके लिए पुलिस अफसर सक्रिय हो गए। गोगामेड़ी सबसे पहले आनंद पाल एनकाउंटर केस के बाद चर्चा में आए थे।

उस समय आनंद पाल के शव को लेकर काफी दिन तक प्रदर्शन हुआ था। गोगामेड़ी इस प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे। राजस्थान के डीजीपी उमेश मिश्रा ने पुलिस के आला अफसरों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं।

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद के घटनाक्रम पर डीजीपी करीबी नजर बनाए हुए हैं। हत्यारों को पकड़ने के लिए नाकाबंदी की गई है। उन जिलों में खास तौर पर सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं, जहां करणी सेना का व्यापक समर्थन है।