Trrorist Attack: ड्रोन की मदद से दहशतगर्दों की तलाश जारी, आतंकी हमले की जांच करने पहुंची एनआईए

 
Errorist Attack
जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले श्रद्धालुओं की बस पर घात लगाकर बैठे आतंकियों ने हमला कर दिया। हमले के बाद बस गहरी खाई में जा गिरी। हमले में एक बच्चे समेत नौ यात्रियों की मौत हो गई, जबकि 33 घायल हो गए। 

Errorist Attack: जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में श्रद्धालुओं से भरी बस पर हुए आतंकी हमले की जांच एनआईए करेगी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की टीम पुलिस की मदद करने और जमीनी हालात का आकलन करने के लिए जम्मू संभाग के जिला रियासी पहुंच गई है।

एनआईए की फोरेंसिक टीम भी जमीनी स्तर से साक्ष्य जुटाने में मदद करने की कोशिश कर रही है। उधर, रियासी में पुलिस, एसओजी, सीआरपीएफ, सेना के जवानों द्वारा तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। वन क्षेत्र में तलाशी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है।

रविवार की शाम को रियासी में तीर्थयात्रियों को ले जा रही एक बस पर आतंकवादियों ने हमला किया था, जिसमें एक मासूम बच्चे समेत नौ श्रद्धालुओं की जान चली गई थी, जबकि कई गंभीर घायल हैं। रियासी आतंकी हमले पर एसएसपी मोहिता शर्मा ने कहा, "कल शाम करीब छह बजे एक यात्री बस शिवखोड़ी से दर्शन करके रियासी की ओर जा रही थी। इस दौरान आतंकियों ने फायरिंग की।

Errorist Attack

हमले में नौ लोगों की मृत्यु हुई है और 33 लोग घायल हुए हैं जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। इलाके में तलाशी अभियान जारी है। अमरनाथ यात्रा शुरू होने से ठीक 20 दिन पहले रियासी जिले के प्रसिद्ध शिव धाम शिवखोड़ी से दर्शन कर लौट रहे यात्रियों की बस पर घात लगाकर आतंकियों की ओर से किए गए हमले के बाद बस गहरी खाई में जा गिरी।

इस घटना में एक बच्चे समेत नौ यात्रियों की मौत हो गई, जबकि 33 घायल हो गए। सभी मरने वाले व घायल श्रद्धालु उत्तर प्रदेश, दिल्ली व राजस्थान के बताए जाते हैं। घटना में 6-7 यात्रियों को गोलियां लगी हैं। घायलों में कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है। घटना रविवार की शाम लगभग सवा छह बजे की बताई जाती है।

एसएसपी रियासी मोहिता शर्मा ने नौ यात्रियों के मारे जाने तथा 33 के घायल होने की पुष्टि की है। ज्ञात हो कि अमरनाथ यात्रा 29 जून से शुरू होनी है। बताते हैं कि यात्रियों से भरी बस (जेके 02 एई 3485) शिवखोड़ी से कटड़ा लौट रही थी। बस में 42 यात्री सवार थे। सभी यात्रियों को लेकर बस सुबह शिवखोड़ी गई थी।

Errorist Attack

दर्शन कर लौटते समय पौनी और शिवखोड़ी के बीच कंडा त्रयाथ इलाके में चंडी मोड़ के पास पहले से घात लगाए आतंकियों ने बस के आगे आकर फायरिंग की। अचानक हुई फायरिंग से चालक ने संतुलन खो दिया और बस लगभग 200 फीट गहरी खाई में जा गिरी। बस के गिरने के दौरान वहां मौजूद अन्य आतंकियों ने पीछे से गोलियां बरसाईं। 

घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय लोगों तथा प्रशासनिक टीम ने मौके पर पहुंचकर बचाव कार्य शुरू किया। घायलों को गहरी खाई से निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया। बस खाई में गिरने के बाद कई लोगों के शव मौके पर पड़े हुए थे। कुछ शव पेड़ पर भी फंसे दिखे। जंगली इलाका होने के कारण बचाव कार्य को करने में परेशानी भी हुई। काफी मेहनत के बाद घायलों को बाहर निकाला गया।

पुलिस के अधिकारी भी रियासी से मौके पर पहुंचे। घायलों को पीएचसी पौनी और त्रियाथ ले जाया गया। पौनी में सभी घायलों को प्राथमिक उपचार देने के बाद जिला अस्पताल रियासी में रेफर किया गया। इसके अलावा कुछ घायलों को हेल्थ सेंटर भारख में भी लाया गया।

Errorist Attack

उन्होंने कहा कि जान गंवाने वाले लोगों की कमी को किसी भी तरह से पूरा नहीं किया जा सकता। लेकिन फिर मृतकों के परिजनों के लिए 10-10 लाख रुपये की अनुग्रह राशि को मंजूरी दी है। साथ ही घायलों के लिए 50-50 हजार रुपये की सहायता राशि भी स्वीकृत की गई है। घायलों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। 

रियासी में आतंकी हमले को लेकर शिवखोड़ी के आधार शिविर रनसू में सोमवार को बाजार बंद रहा। दुकानदारों ने दुकानें बंद रखीं। घोड़ा, पिट्ठू और पालकी की सेवा देने वाले लोगों ने सोमवार को हमले के विरोध में अपनी सेवाएं बंद रखी। दुकानदारों ने बाजार में एक जगह एकत्रित होकर धरना दिया। इस दौरान हमले पर कड़ा रोष जताया गया। साथ ही हमले में मारे गए लोगों के परिजनों संग संवेदनाएं व्यक्त कीं।

Errorist Attack

इसके साथ ही घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। रियासी आतंकी हमले पर रोष व्यक्त करते हुए जम्मू-कश्मीर के पूर्व उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता कविंदर गुप्ता ने कहा, 'पाकिस्तान ने हमेशा आतंकवाद फैलाने की कोशिश की है...ये घटनाएं चिंता का विषय हैं...आतंकवादियों को मार गिराया जाएगा. उन्हें बख्शा नहीं जाएगा...हमें अपनी सेना पर भरोसा है...आतंकवाद के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी पाकिस्तान अलग-थलग पड़ गया है।'

वैष्णो देवी तीर्थयात्रियों की बस हमले को लेकर अखिलेश यादव ने सरकार पर साधा निशाना

जम्मू-कश्मीर रियासी जिले में रविवार शाम आतंकवादियों ने तीर्थयात्रियों को ले जा रही बस पर गोलीबारी की, इस आतंकी हमले में तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत हो गई और 33 अन्य घायल हुए हैं। जिस वक्त आतंकियों ने गोलीबारी की उसी दौरान बस खाई में जा गिरी।

बस में बैठे तीर्थयात्री चीखते-चिल्लाते रहे पर आतंकियों ने उन पर बेरहमी से गोली चलाई। इस घटना को लेकर सपा के प्रमुख अखिलेश यादव ने सरकार पर हमला बोला है। इसके लिए उन्होंने सुरक्षा प्रबंधन की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया। 

Errorist Attack

सोशल मीडिया प्लेटफार्म ‘एक्स’ पर इस घटना को लेकर अपनी प्रतिक्रिया में अखिलेश यादव ने लिखा, ‘ देश में राजनीतिक रूप से अति संवेदनशील दिन, सुरक्षा प्रबंधन की लापरवाही की वजह से हुए आतंकी हमले में 10 लोगों के मारे जाने की ख़बर दुखद भी है और घोर निंदनीय भी।

मृतकों में अधिकांश उप्र के हैं और बस के खाई में गिरने की वजह से कई लोग घायल भी हैं। मृतकों के शवों को उनके परिजनों तक पहुंचाने और घायलों को अच्छे-से-अच्छा उपचार देने के लिए सरकार जागे और सभी हताहतों को यथोचित मुआवजा दे।’