पाकिस्तान में बाढ़ से बेहाल हुए 110 जिले

एक हजार के पार पहुंची मृतकों की संख्या​​​​​​​

 
110 districts ravaged by floods in Pakistan

भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में बाढ़ से हालात बदतर होते जा रहे हैं। बाढ़ के कारण अब तक एक हजार से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। हालात ऐसे हो गए हैं कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पाकिस्तानी सेना की मदद ली जा रही है।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में इन दिनों बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है। पाकिस्तान में बाढ़ के कारण लाखों लोग प्रभावित हुए हैं।

हालात ये है कि देश में बाढ़ से मरने वालों की संख्या में भी इजाफा देखने को मिल रहा है। जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 1,000 को पार पहुंच गई है।

इसके अलावा हजारों लोग घायल या विस्थापित हुए हैं।

पाकिस्तान में एक हजार से अधिक लोगों की हुई मौत

जियो न्यूज ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) के हवाले से बताया कि 14 जून से अब तक बारिश और बाढ़ से कम से कम 1,033 लोग मारे गए हैं, जबकि 1 हजार 527 लोग घायल हुए हैं। पाकिस्तान में पिछले 24 घंटों में करीब 119 लोगों की मौत हुई और 71 लोग घायल हुए हैं।

आंकड़ों के मुताबिक, बलूचिस्तान में चार, गिलगित बाल्टिस्तान में छह, खैबर पख्तूनख्वा में 31 और सिंध में 76 लोगों की मौत हुई है।

पाकिस्तान में बाढ़ ने पहुंचाया नुकसान

बता दें कि पाकिस्तान में बाढ़ ने 14 जून के बाद जमकर कहर बरपाया है। पाकिस्तान में 14 जून के बाद से 3,451.5 किमी सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है और 149 पुल ढह गए हैं, इसके अलावा बाढ़ से 170 दुकानें नष्ट हो गई हैं। वहीं, 949,858 घर आंशिक रूप या पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं।

साथ ही 662,446 घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं और 287,412 पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं। इसके अलावा 719,558 पशुओं की भी मौत हो चुकी है।

बाढ़ की चपेट में पाकिस्तान के 110 जिले

110 districts ravaged by floods in Pakistan

जियो न्यूज के अनुसार, पाकिस्तान के कम से कम 110 जिले बाढ़ की चपेट में हैं, जिनमें से 72 जिलों को आपदा प्रभावित घोषित किया गया है।

बता दें कि पाकिस्तान एक दशक से अधिक समय में अपनी सबसे भीषण प्राकृतिक आपदा से जूझ रहा है। पाकिस्तान में बाढ़ ने लाखों लोगों के जीवन को प्रभावित किया है।

जिसके बाद पाकिस्तान सरकार ने राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया है।

पाकिस्तान में रिकार्ड तोड़ हुई बारिश

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की नवीनतम रिपोर्ट से पता चलता है कि बाढ़ से 5,773,063 लोग प्रभावित हुए हैं।

उनके अनुमानों के मुताबिक, पाकिस्तान में 33 मिलियन से अधिक आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है। प्राधिकरण ने बताया कि अब तक 51,275 को बचाया गया है, जबकि 498,442 को राहत शिविरों में ले जाया गया है।

एनडीएमए के मुताबिक, पाकिस्तान में इस साल 388.7 मिमी बारिश हुई है। जो 30 साल के औसत 190.07% अधिक है। 25 अगस्त तक पाकिस्तान में 375.4 मिमी बारिश हुई।

मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

बयान में कहा गया है कि ये बारिश मुख्य रूप से बलूचिस्तान, सिंध और पंजाब के कुछ हिस्सों में हुई है, जिसमें बलूचिस्तान में 30 साल की औसत बारिश का पांच गुना और सिंध में 30 साल के औसत से 5.7 गुना बारिश हुई है।

26 अगस्त को पाकिस्तान मौसम विज्ञान विभाग (पीएमडी) के बाढ़ पूर्वानुमान विभाग (एफएफडी) ने एक चेतावनी जारी की है। केपी प्रांत के नौशेरा में स्थित काबुल नदी, साथ ही काबुल और सिंधु की सहायक नदियों में उच्च-स्तरीय बाढ़ की आशंका है।