Pitru Paksha 2023: घर में घट रही घटनाएं देती हैं पितरों की नाराजगी के संकेत, पितृ पक्ष में करें ये उपाय

 
Pitru Paksha 2023: Events happening at home indicate the displeasure of ancestors, do these measures during Pitru Paksha
हिंदू मान्यता के अनुसार यदि किसी व्यक्ति के सपने में बार-बार पितर या फिर मृतक परिजन दुखी दिखाई दें तो उन्हें समझ लेना चाहिए कि उनके पितर उनसे नाराज हैं।

Pitru paksha 2023: पितृपक्ष का महीना पितरों की पूजा के लिए सबसे अच्छाा माना गया है।पितरों को लेकर बहुत से लोगों में हमेशा जिज्ञासा बनी रहती है। जैसे वे कौन हैं, या वे क्यों नाराज होते हैं, उनकी नाराजगी से क्या होता है।

इसे पता लगाने के लिए कुछ संकेत बताए गए हैं। आइए जानते हैं क्या हैं वे संकेत और उनकी नाराजगी से बचने का उपाय। हिंदू मान्यता के अनुसार, हर साल आश्विन मास के कृष्णपक्ष की प्रतिपदा से लेकर अमावस्या तक पड़ने वाले पितृपक्ष में पितर पितृलोक से चलकर पृथ्वीलोक पर तमाम तरह के जीवों के रूप में आते हैं।

मान्यता है कि जब पितृ अपने वंशजों को देखने के लिए आते हैं तो उनका आशीर्वाद पाने के लिए श्राद्ध और तर्पण आदि करके उनको खुश करना चाहिए। हिंदू मान्यता के अनुसार, जो व्यक्ति अपने पितरों का विधि-विधान से श्राद्ध करता है,उस पर उनकी पूरी कृपा बरसती है।

लेकिन जो अनादर करता है उसे वे श्राप देकर अपने लोक को लौट जाते हैं। इस साल पितरों की पूजा से जुड़ा पावन पर्व 29 सितंबर 2023 से शुरु होगा, जो 14 अक्टूबर तक चलेगा। हिंदू धर्म में पितरों की पूजा का बहुत ही महत्व माना गया है।

क्योंकि पितृलोक में रहने वाले यही पितर विधि-विधान से श्राद्ध एवं पिंडदान आदि करने पर हमें हमें सुख-सौभाग्य और निरोग रहने का अशीर्वाद देते हैं। वहीं, अनदेखी करने पर व्यक्ति को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। हिंदू मान्यता के अनुसार पितरों की नाराजगी काम बिगड़ने लगते हैं।

पितर किनसे नाराज हैं और किनसे प्रसन्न, इस बात का पता लगाने के लिए लोग अक्सर परेशान रहते हैं। मान्यता के अनुसार, पितरों के नाराज होने पर व्यक्ति के जीवन में तमाम तरह के अशुभ संकेत दिखाई देने लगते है, जिसे देखकर गलती सुधारते हुए उन्हें मनाने का प्रयास कर सकते हैं।

अगर ऐसा हो रहा है तो पितर हैं नाराज - हिंदू मान्यता के अनुसार यदि किसी व्यक्ति के सपने में बार-बार पितर या फिर मृतक परिजन दुखी दिखाई दें तो उन्हें समझ लेना चाहिए कि उनके पितर उनसे नाराज हैं।

सनातन परंपरा के अनुसार पितरों के आशीर्वाद से ही कुल में वृद्धि होती है। ऐसे में यदि पितर नाराज हो जाएं तो व्यक्ति को संतान सुख मिलने में बाधा आती है। यदि संतान हो तो उससे सुख की बजाय तमाम तरह का दुख और कष्ट मिलता है।

हिंदू मान्यता कि अनुसार जिस किसी व्यक्ति या परिवार से पितर नाराज होते हैं। उस घर में अचानक से तमाम तरह की बाधाएं आने लगती हैं। उस घर से जुड़े लोगों के प्रत्येक काम में अड़चनें आती हैं और उनके बने-बनाए काम भी बिगड़ने लगते हैं।

मान्यता है कि जिस व्यक्ति या परिवार से पितर नाराज होते हैं, उसके घर में होने वाले मांगलिक कार्य जैसे विवाह आदि में तमाम तरह की बाधाएं आती हैं। पितरों की नाराजगी के कारण व्यक्ति को वैवाहिक सुख की प्राप्ति नहीं हो पाती है।

नोट: यहां दी गई जानकारी सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। bmbreakingnews.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।

Pitru Paksha 2023: Events happening at home indicate the displeasure of ancestors, do these measures during Pitru Paksha

Pitru Paksha 2023: Events happening at home indicate the displeasure of ancestors, do these measures during Pitru Paksha

Pitru Paksha 2023: Events happening at home indicate the displeasure of ancestors, do these measures during Pitru Paksha

Pitru Paksha 2023: Events happening at home indicate the displeasure of ancestors, do these measures during Pitru Paksha

Pitru Paksha 2023: Events happening at home indicate the displeasure of ancestors, do these measures during Pitru Paksha