मकान में लगी आग से सास-बहू समेत पांच की जलकर मौत

मृतकों में तीन बच्‍चे भी शामिल
 

 
Five including mother-in-law and daughter-in-law were burnt to death due to fire in the house

मरने वालों में तीन बच्‍चे शामिल हैं। मृतकों में हल्द्वानी और रानीखेत की महिला और बच्चे भी शामिल हैं। ये लोग शादी समारोह में शामिल होने के लिए आए थे। आसपास के लोगों ने अग्निशमन दल की मदद से सात लोगों की जान बचा ली।

मुरादाबाद। थाना गलशहीद क्षेत्र में लंगड़े की पुलिया (असालतपुरा) बिजली घर के पास कबाड़ी के चार मंजिला मकान में शार्ट सर्किट से भीषण आग लग गयी।

आग में जिंंदा जलकर सास-बहू समेत पांच लोगों की मृत्यु हो गयी। मरने वालों में तीन बच्‍चे शामिल हैं। मृतकों में  हल्द्वानी और रानीखेत की महिला और बच्चे भी शामिल हैं।

ये लोग शादी समारोह में शामिल होने के लिए आए थे। आसपास के लोगों ने अग्निशमन दल की मदद से सात लोगों की जान बचा ली।

घटना की सूचना पर जिलाधिकारी और एसएसपी ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित परिवार की हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

लंगड़े की पुलिस (असालतपुरा) में इरशाद कबाड़ी का चार मंजिला मकान है। इरशाद के घर में उनकी बेटी बबली की दो पुत्रियों का तीन दिन बाद निकाह होना था।

इरशाद का बेटा अयाज रानीखेत (अल्मोड़ा) में रहकर ठेकेदारी करता है। उसकी पत्नी शमा वहीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता है।

बहू और बेटा अपनी सात वर्षीय बेटी नाफिया और चार वर्षीय बेटे इबाद के साथ शादी समारोह में शामिल होने आए थे।

इसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए इरशाद की बेटी हिना, उसके पति नावेद भी आए हुए थे। साथ में नावेद की बेटी उमेमा भी थी।

बताते हैं कि घर के नीचे के हिस्से में इरशाद का कबाड़ भरा रहता है। घर में इरशाद की 70 वर्षीय पत्नी कमरजहां के अलावा बेटी-बहू और बच्चे मौजूद थे।

गुरुवार रात करीब आठ बजे शार्ट सर्किट से कबाड़ में आ लग गयी। आग ने थोड़ी ही देर में भीषण रूप लेकर चारों मंजिलों को अपनी चपेट में लिया।

हादसे में इरशाद की पत्नी कमर जहां, बहू शमा, पौत्री नाफिया, पौत्र इबाद के अलावा बेटी की पुत्री उमेमा की जलकर मृत्यु हो गई।

घटना की सूचना पर अग्निशमन विभाग का दल मौके पर पहुंच गया। स्थानीय लोगों ने अग्निशमन दल की मदद से सात लोगों की जान बचा ली। सूचना मिलते ही जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह (Moradabad DM Shailendra Kumar Singh)  और एसएसपी हेमंत कुटियाल (Moradabad SSP Hemant Kutiyal) ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित परिवार का दर्द सुना और हर संभव मदद का आश्वासन दिया।