Akhilesh & shivpal Yadav: शिवपाल यादव ने गलती की स्वीकार, बोले - मेरा भतीजा अक्षय 2019 में फिरोजाबाद सीट मेरी गलती से हारा

 
Akhilesh & Shivpal Yadav
शिवपाल यादव ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनावों में मेरे भतीजे की हार की वजह मैं खुद था। अबकी बार रिकॉर्ड मतों से विजयी बनाना है। 

Akhilesh & shivpal Yadav: सपा के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि 2019 के चुनाव में मेरा भतीजा अक्षय यादव मेरी गलती के कारण हारा था। अबकी बार ऐसा नहीं होगा। मालूम हो कि 2019 के लोकसभा चुनाव में फिरोजाबाद की सीट अक्षय यादव कुछ हजार वोटों से भाजपा से हार गए थे।

तब यहां शिवपाल अपनी खुद की पार्टी से चुनाव लड़ रहे थे और उन्हें 91 हजार वोट मिले थे। शिवपाल ने उस हार के लिए अब खुद को दोषी माना है। शिवपाल ने कहा कि सात मई को इतना वोट डालना की चार जून का परिणाम आए तो दिल्ली की सरकार हटेगी और दिल्ली के साथ-साथ यूपी की सरकार भी जाएगी। 

Akhilesh & Shivpal Yadav

शिवपाल ने कार्यकर्ताओं से कहा कि लाल स्याही से लिख लेना भाजपा के शासन में जो उत्पीड़न हुआ है उसका पूरा हिसाब बराबर किया जाएगा। यह भी जान लें कि भाजपा किसी की नहीं है। यह पार्टी सिर्फ पूंजीपतियों की है। उनकी ही मदद करती है।

इसके साथ यह भाई से भाई एवं परिवार से परिवार को लड़ाने का काम करती है। केंद्र की 10 व प्रदेश के सात वर्ष की सरकार में सभी परेशान हैं। वहीं संभल में कहा कि दो लड़कों की जोड़ी ने भाजपा की नींद उड़ा दी है।

भाजपाई भागे फिर रहे हैं। दो लड़कों की जोड़ी की फिल्म हिट होने वाली है। चार जून को पता चल जाएगा कि किसकी जोड़ी हिट है और किसकी फ्लॉप। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा कि पहले और दूसरे चरण में लोगों ने भाजपा को नापसंद किया है।

तीसरे चरण में लोग सफाया करने जा रहे हैं, क्योंकि इन्होंने हर वर्ग के साथ नकली बातें की हैं। दस साल का हिसाब-किताब देखेंगे तो हर बात झूठी निकलेगी। तीसरे चरण का चुनाव भाजपा को सात समंदर दूर फेंक देगा। 

सपा अध्यक्ष ने शनिवार को बदायूं, मैनपुरी और फिरोजाबाद में जनसभा की। बदायूं में कहा कि यही लोग हैं जो कह रहे थे कि किसानों की आय दोगुनी कर देंगे। नौजवानों को रोजगार देंगे मगर न आय दोगुनी हुई और न ही रोजगार मिल सका।

किसान, अपना हिसाब-किताब लगाता है तो लागत को देखकर चिंता करता है। इस महंगाई में सरकार, पैदावार का मूल्य नहीं दे पा रही है। जो लोग कहते थे कि आय दोगुनी कर देंगे, वही लोग तीन काले कानून लाए थे।

उनकी साजिश थी किसानों की जमीन पर कब्जा कर लें और पैदावार भी छीन लें, मगर किसान दिल्ली में डट गए और सरकार को कानून वापस लेने पड़े, लेकिन अभी लड़ाई खत्म नहीं हुई है। मैनपुरी में कहा कि समुद्र मंथन की तरह ही ये चुनाव संविधान मंथन का है। 7 मई को अपने वोट से भाजपा को सात समंदर पार भेज दो।

उन्होंने कहा कि एक तरफ वो लोग हैं जो संविधान को बदलना चाहते हैं, संविधान के भक्षक हैं। एक तरफ हम लोग हैं जो संविधान की रक्षा करना चाहते हैं। फिरोजाबाद में कहा कि किसानों की आय तो दोगुना नहीं हुई, बल्कि किसान की बोरी से खाद चोरी जरूर कर ली। किसानों का कर्ज माफ नहीं किया, जबकि उद्योगपतियों का 16 लाख करोड़ का कर्जा माफ कर दिया।

Akhilesh & Shivpal Yadav

Akhilesh & Shivpal Yadav

Akhilesh & Shivpal Yadav

Akhilesh & Shivpal Yadav