Akhilesh Yadav: आगरा से ऐसे नेता पर अखिलेश यादव ने लगाया दांव जिसकी नहीं थी उम्मीद, अखिलेश के इस कदम से भाजपा में बढ़ी बैचेनी

 
Akhilesh Yadav
अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए हर सीट से बेहद ही सोच समझकर प्रत्याशियों का चयन किया है। 

Akhilesh Yadav: समाजवादी पार्टी ने आगरा लोकसभा सीट पर जूता कारोबारी सुरेश चंद कर्दम को टिकट दिया है। सोमवार रात सपा ने उनके नाम की घोषणा की। अनुसूचित वर्ग के लिए आरक्षित आगरा सीट पर सपा ने जाटव कार्ड खेला है।

पिछले 10 दिनों से सपा में प्रत्याशी चयन को लेकर मंथन चल रहा था। कई नाम शामिल थे। लेकिन, नए चेहरे के रूप में सुरेश चंद को मौका मिला। 63 वर्षीय सुरेश 24 साल पहले वर्ष 2000 में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से आगरा नगर निगम के मेयर का चुनाव लड़ चुके हैं।

Akhilesh Yadav

तब वह दूसरे नंबर पर रहे थे। कम अंतर से चुनाव हार गए थे। कारोबारी होने के कारण सुरेश किसी दल में पदाधिकारी नहीं रहे। कई नामदारों की जगह सपा ने उन्हें टिकट दिया। सपा इस बार पिछड़ा, दलित और अल्पसंख्यक (पीडीए) के नारे पर चुनाव लड़ रही है।

सुरेश चंद कर्दम आगरा के अनुसूचित वर्ग से आते हैं। सुरेश चंद कर्दम ने कहा कि पार्टी नेतृत्व के अनुसार चुनाव लडूंगा। पिछले महीने सपा ने रामजी लाल सुमन को राज्य सभा भेजा था। सुमन को सांसद बनाने के पीछे भी अनुसूचित वर्ग को साधना था।

Akhilesh Yadav:

अब सपा ने आगरा से जाटव कार्ड खेला है। इंडिया गठबंधन में शामिल सपा के खाते में टिकट बंटवारे में आगरा लोकसभा सीट आई है। कांग्रेस को फतेहपुर सीकरी सीट मिली है। 1999 से 2009 तक आगरा सीट से समाजवादी पार्टी से राज बब्बर दो बार सांसद बने थे।

तब उन्होंने भाजपा के भगवान शंकर रावत को हराया था। सपा मुखिया अखिलेश यादव ने जूता कारोबारी सुरेश चंद कर्दम को टिकट देकर एक तीर से दो निशाने साधे हैं। सुरेश चंद कर्दम के रूप में आगरा से भाजपा को टक्कर देने के लिए मजबूत प्रत्याशी ही नहीं खोजे, बल्कि बसपा के वोट बैंक में शेंध लगाने का भी कार्य किया है। 

Akhilesh Yadav:

Akhilesh Yadav: