Atiq Ashraf Murder Case: बसपा सांसद अफजाल अंसारी ने कहा - अतीक, अशरफ के मर्डर की स्क्रिप्ट पहले से तैयार थी

 
Atiq Ashraf Murder Case: BSP MP Afzal Ansari said - Atiq, Ashraf's murder script was already ready

Atiq Ashraf Murder Case: गाजीपुर। माफिया अतीक अहमद और अशरफ की हत्या के बाद यूपी की सियासत गर्माई हुई है।विरोधी दल लगातार इस मुद्दे पर सत्ताधारी पार्टी को घेरने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच म‌ऊ के पूर्व विधायक माफिया मुख्तार अंसारी के भाई गाजीपुर से बसपा सांसद अफजाल अंसारी ने बड़ा बयान दिया है।

Atiq Ashraf Murder Case: 

अफजाल ने कहा कि अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या की स्क्रिप्ट पहले से तैयार थी। इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।जांच में सारी बातें खुलकर सामने आ जाएंगी। अफजाल ने आरोप लगाया कि अब हमें भी मारने की तैयारी की जा रही है,लेकिन मारने से ज्यादा बड़ा बचाने वाला होता है।

अफजाल ने यह भी आरोप लगाया कि अतीक को मारने वाले तीन नहीं बल्कि 5 शूटर थे। 15 अप्रैल को प्रयागराज में जो हुआ,वह दिल दहलाने वाला था। अफजाल अंसारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का नाम लिए बगैर कहा कि आप इन्वेस्टर्स समिट में कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में परिंदा भी पर नहीं मार सकता है और अतीक-अशरफ का शूटआउट जैसा कांड हो गया।

Atiq Ashraf Murder Case: 

अफजाल ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी 200 का आंकड़ा भी नहीं छू पाएगी। इससे पहले भी अफजाल अतीक और अशरफ की हत्या पर कहा था कि क्या इस तरह की घटना के बाद लोकतंत्र पर लोगों का भरोसा बना रहेगा। अफजाल अंसारी ने कानून व्यवस्था पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वो जनाजा सिर्फ अतीक का नहीं, हमारी कानून व्यवस्था का भी निकला।

सत्ता की ताकत पर इस तरह की घटना को कोई न्याय कहे तो ऊपर भी मालिक बैठा है। हर हुकूमत का हाकिम ऊपर बैठा है। खुद पर चल रहे गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे के सवाल पर कहा कि वह सड़क छाप आदमी हैं। 1 गाड़ी में 4 लोगों के साथ कोर्ट चले जाते हैं। वह न्यायालय के निर्णय को स्वीकार करने वाले हैं। अगर निर्णय पक्ष में नहीं आया तो आलोचना नहीं अपील करेंगे।

Atiq Ashraf Murder Case: 

आयकर विभाग ने माफिया मुख्तार अंसारी की उत्तर प्रदेश और अन्य स्थानों पर लगभग दो दर्जन बेनामी संपत्तियों का पता लगाया है,जिनकी कुल कीमत लगभग 127 करोड़ रुपये है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बताया कि अंसारी और उसके सहयोगियों के खिलाफ विस्तृत कार्रवाई के तहत इन संपत्तियों का पता लगाया गया है।

विभाग द्वारा जारी कुर्की आदेश के मुताबिक मुख्तार की लखनऊ स्थित बेनामी संपत्ति जांच इकाई ने पहली संपत्ति कुर्क की, जो गाजीपुर जिला स्थित एक भूखंड है,जिसका खरीद मूल्य लगभग 1.29 करोड़ रुपये है जबकि बाजार कीमत 12 करोड़ रुपये है। 

Atiq Ashraf Murder Case: 

सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग मुख्तार की अन्य 22 बेनामी संपत्तियों को कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू कर रहा है,जिनकी कीमत लगभग 100 करोड़ रुपये है। बता दें कि मुख्तार अंसारी पांच बार विधायक रहे हैं। मुख़्तार इस समय बांदा जेल में बंद है। मुख़्तार के खिलाफ हत्या, भूमि कब्जा करने सहित विभिन्न अपराधों में 49 मामले दर्ज हैं।