Atiq Ashraf Murder Case: अतीक को लेकर फेसबुक पर लिखी गई आपत्तिजनक पोस्ट, रिपोर्ट दर्ज

 
Atiq Ashraf Murder Case: Objectionable post written on Facebook regarding Atiq, report lodged
प्रयागराज में पुलिस हिरासत में मारे गए माफिया अतीक अहमद व उसके भाई के खिलाफ फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट डाली गई है। मामले में पुलिस ने आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। ऐसा ही मामला मंगलवार को भी इंदिरापुरम कोतवाली क्षेत्र से सामने आया था।

Atiq Ashraf Murder Case: प्रयागराज में पुलिस हिरासत में मारे गए माफिया अतीक अहमद (Atiq Ahmed Murder) व उसके भाई के खिलाफ फेसबुक (Facebook) पर आपत्तिजनक पोस्ट डाली गई है। मामले में पुलिस ने आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। बता दें कि ऐसा ही मामला मंगलवार को भी इंदिरापुरम कोतवाली क्षेत्र से सामने आया था। 

Atiq Ashraf Murder Case: Objectionable post written on Facebook regarding Atiq, report lodged

विजयनगर थाने के उपनिरीक्षक विजय कुमार ने पोस्ट पर संज्ञान लेते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई है। दर्ज रिपोर्ट में कहा गया है कि सोमवार सुबह ट्विटर पर एक पोस्ट डालते हुए उसपर आपत्ति जताई गई थी। यह पोस्ट फेसबुक पर डाली गई थी, जिसमें माफिया अतीक को लेकर टिप्पणी की गई थी।

Atiq Ashraf Murder Case: Objectionable post written on Facebook regarding Atiq, report lodged

उपनिरीक्षक के मुताबिक, इस भड़काऊ पोस्ट के प्रसारित होने से सामाजिक सौहार्द बिगड़ सकता है। एसीपी कोतवाली सुजीत कुमार राय ने बताया कि विजयनगर सेक्टर नौ के रहने वाले विनोद कुमार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच की जा रही है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

लवलेश के संपर्क में थे नैनी जेल के कई अपराधी, दोस्त ने खोला राज 

Atiq Ashraf Murder Case: Objectionable post written on Facebook regarding Atiq, report lodged

बांदा। माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ को ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर पुलिस के बीच मार गिराने वाले शूटर लवलेश तिवारी पर भले ही गिनती के चार मुकदमे दर्ज हों और वह दो बार बांदा जेल में रह चुका है, पर उसके संबंध उन लोगों से भी थे, जो संगीन अपराध में नैनी जेल में बंद रहने वाले अपराधियों से भी थे।

लवलेश के एक दोस्त ने बताया कि वह एक वाट्सएप ग्रुप चलाता था, जिसमें उसके गुट से करीब पचास से ज्यादा लड़के जुड़े थे, जो एक मैसेज पर बताई गई जगह पहुंच जाते थे। मारपीट कर वह आगे बढ़ रहा था।

हालांकि, उसके कारनामे के बाद उसके कुछ करीबी दोस्त मोबाइल बंद कर गायब हो गए हैं, जबकि कई ने फेसबुक एकाउंट से उससे संबंध तोड़ लिए और संगीन अपराध में नैनी जेल जाने वाले साथी फरार हो गए।

Atiq Ashraf Murder Case: Objectionable post written on Facebook regarding Atiq, report lodged

बता दें कि, उमेश पाल हत्याकांड के आरोपी माफिया डॉन अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या शनिवार देर रात हो गई थी। इस हत्याकांड के आरोपियों को घटनास्थल से ही गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Atiq Ashraf Murder Case: Objectionable post written on Facebook regarding Atiq, report lodged

दरअसल, अतीक और उसके भाई की हत्या करने वाले तीनों शूटर फिलहाल उप्र पुलिस की गिरफ्त में है। मीडिया रिपोर्टस की मानें तो वह करीब चार साल पहले एक युवती को थप्पड़ मारने के जुर्म में डेढ़ साल की सजा काट चुका है। वह ड्रग का भी आदी बताया गया है।

पिता यज्ञ तिवारी ने बताया कि घटना के छह रोज पहले घर आया था। स्नातक फेल होने के बाद उसने पढ़ाई बंद कर दी थी। गलत संगत में चला गया। घरवालों ने भी उसका पीछा छोड़ दिया था। चार भाइयों में तीसरे नंबर का था। कोई काम नहीं करता था। घटना से लवलेश का परिवार दहशत में है।