Bahraich: अंगीठी बना मौत का कारण, दम घुटने से मासूम की हुई मौत, चार हुये गंभीर, बेहोश पड़ा रहा परिवार

 
Bahraich
घटना की जानकारी तब हुई जब परिवार के लोग जुमे की नमाज के लिए नहीं निकले। इस पर पड़ोसियों ने शफी के भाई दानिश को सूचना दी।

Bahraich: यूपी के बहराइच जिले में कमरे में अंगीठी जलाकर छोड़ देने से मौत का मामला सामने आया है। नगर के काजीपुरा में बृहस्पतिवार रात कमरे में कोयले की अंगीठी जलाकर सो रहे एक परिवार के पांच लोग बेहोश मिले।

शुक्रवार दोपहर जानकारी होने पर स्थानीय लोगों ने उन्हें मेडिकल कॉलेज पहुंचाया, जहां आठ माह की बच्ची की मौत हो गई। चार लोगों की हालत गंभीर बनी है। काजीपुरा निवासी शफी अहमद (30) इलेक्ट्रानिक की दुकान चलाते हैं। शफी बृहस्पतिवार रात को पत्नी व तीन बच्चों के साथ कमरे में लेटे थे।

Bahraich:

ठंड से बचने के लिए उन्होंने कमरे में कोयले की अंगीठी जला रखी थी। शुक्रवार दोपहर शफी अहमद, पत्नी सिमरन (28), बेटा हसन (6), बेटी जैनब (4) व उम्मे कुलसुम (8 माह) कमरे में बेहोश मिले।

घटना की जानकारी तब हुई जब परिवार के लोग जुमे की नमाज के लिए नहीं निकले। इस पर पड़ोसियों ने शफी के भाई दानिश को सूचना दी। दानिश व अन्य लोग दीवार फांदकर घर के अंदर पहुंचे तो शफी के साथ परिवार के सभी लोग बेहोश मिले।

Bahraich:

उन्हें इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने आठ माह की उम्मे कुलसुम को मृत घोषित कर दिया। नगर कोतवाल मनोज पांडेय ने बताया कि हादसे की जानकारी पर मेडिकल कॉलेज जाकर हालचाल जाना है। सभी की हालत खतरे से बाहर है।

 ठंड से बचने के लिए रात को कमरे में अंगीठी व हीटर जलाना खतरनाक साबित हो सकता है। शहर में हुए एक हादसे को देखते हुए डीएम मोनिका रानी ने लोगों से कमरे में कोयले की अंगीठी, हीटर आदि जलाने में सावधानी बरतने की सलाह दी है।

Bahraich:

उन्होंने बताया कि रात में बंद कमरे में अंगीठी व हीटर जलाने से ऑक्सीजन का स्तर कम हो जाता है। ऐसे में दम घुटने से लोगों की मौत भी हो सकती है। डीएम ने लोगों से सावधानी बरतने की अपील की है।

Bahraich:

Bahraich:

Bahraich:

Bahraich: