Bihar Bridge Demolished: निर्माणाधीन पुल धवस्त मामले में CM Nitish Kumar ने दिए जांचकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश

 
Bihar Bridge Demolished: In the under-construction bridge collapse case, CM Nitish Kumar gave instructions to investigate and take action against the culprits
ये पहला मौका नहीं है जब पुल का हिस्सा नदी में गिरा है। ये पुल इससे पहले भी क्षतिग्रस्त हो चुका है, जिसके बाद ये पुल दूसरी बार हादसे का शिकार हुआ है। ऐसे में पुल की गुणवत्ता पर भी सवाल उठाए जा रहे है। इससे पहले बीते वर्ष 27 अप्रैल को भी निर्माणाधीन पुल का हिस्सा नदी में गिर चुका है।

Bihar Bridge Demolished: बिहार के भागलपुर में रविवार को निर्माणाधीन पुल अचानक से गिर गया। इस हादसे में किसी के जान माल के नुकसान होने की जानकारी अब तक नहीं मिली है। इस पुल का पाया 10, 11 और 12 रविवार को क्षतिग्रस्त होकर गिर गया। इस कारण पूरा पुल भी भरभराकर गिर गया।

Bihar Bridge Demolished: In the under-construction bridge collapse case, CM Nitish Kumar gave instructions to investigate and take action against the culprits

ये एक फोर लेन पुल है जो कि गंगा नदी पर बन रहा था। इस पुल का सुपर स्ट्रक्चर नदी में गिर गया है। माना जा रहा है कि जो हिस्सा पुल का गिरा है वो लगभग 200 मीटर का होगा। अब तक हादसे के कारण को स्पष्ट नहीं किया गया है। बता दें कि इस पुल का निर्माण एसपी सिंगला कंपनी कर रही है। 

Bihar Bridge Demolished: In the under-construction bridge collapse case, CM Nitish Kumar gave instructions to investigate and take action against the culprits

बता दें कि घटना के बाद से ही हर तरफ अफरातफरी का मौहाल बना हुआ है। वहीं हादसे के बाद मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने घटना की सूचना मिलने पर विस्तृत जानकारी ली और घटना की जांच के आदेश दे दिए है।

उन्होंने इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान किए जाने के लिए भी कहा है। साथ ही जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है। ये पुल भागलपुर जिले के सुलतानगंज में बन रहा था, जिससे खगड़िया और  भागलपुर जिले को जोड़ने में मदद मिलेगी।

Bihar Bridge Demolished: In the under-construction bridge collapse case, CM Nitish Kumar gave instructions to investigate and take action against the culprits

गौरतलब है कि ये पहला मौका नहीं है जब पुल का हिस्सा नदी में गिरा है। ये पुल इससे पहले भी क्षतिग्रस्त हो चुका है, जिसके बाद ये पुल दूसरी बार हादसे का शिकार हुआ है। ऐसे में पुल की गुणवत्ता पर भी सवाल उठाए जा रहे है। इससे पहले बीते वर्ष 27 अप्रैल को भी निर्माणाधीन पुल का हिस्सा नदी में गिर चुका है।

उस समय पुल का हिस्सा गिरने का कारण तेज आंधी और बारिश बताए गए थे, जिससे 100 फीट लंबा हिस्सा नदी में गिर गया था। उस समय किसी जान माल को नुकसान नहीं हुआ था। जानकारी के लिए बता दें कि पुल का शिलान्यास चार साल पहले नीतीश कुमार ने किया था।

Bihar Bridge Demolished: In the under-construction bridge collapse case, CM Nitish Kumar gave instructions to investigate and take action against the culprits

माना जा रहा है कि इस पुल को 1717 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित किया जा रहा है। इस पुल को लेकर अधिकारियों का कहना है कि निर्माणाधीन पुल के गिरने की घटना सुबह 6 बजे हुई है। वहीं स्थानीय प्रशासन भी मौके पर है। हादसे के बाद पुल निर्माण निगम के हादसे के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है। 

Bihar Bridge Demolished: In the under-construction bridge collapse case, CM Nitish Kumar gave instructions to investigate and take action against the culprits

इस घटना के बाद जेडीयू के नेता ललित मंडल ने मीडिया को बयान जिया कि ये घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। हमें उम्मीद थी कि ये पुल इस  वर्ष नवंबर-दिसंबर में उद्घाटन के बाद शुरू हो जाएगा। मगर इस तरह के हादसे होना जांच का विषय है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की बात कही है।