Budaun News: पहले मारी गोली, फिर दिए रुपये और विजिटिंग कार्ड, अब हुआ खुलासा

 
Budaun News
एक ही रात में बदमाशों ने दो किसानों को गोली मारकर घायल कर दिया। दोनों वारदात में हैरत की बात यह थी कि बदमाशों ने किसानों को विजिटिंग कार्ड दिए थे। एक किसान को रुपये भी दिए थे।

पुलिस ने विजिटिंग कार्ड और रुपयों के जरिए तार से तार जोड़े और बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।  

Budaun News: बदायूं के कादरचौक थाना क्षेत्र में बृहस्पतिवार रात दो किसानों को गोली मारने वाले दो बदमाश पकड़े गए। उनका एक साथी फरार है। तीनों बदमाशों ने अपने दुश्मनों को फंसाने के लिए दोनों किसानों को गोली मारी थी। उनको विजिटिंग कार्ड भी पकड़ाया था। एक किसान को उपचार के लिए रुपये भी दिए थे। पुलिस ने पकड़े गए दोनों बदमाशों को जेल भेज दिया है।

बृहस्पतिवार रात कादरचौक थाना क्षेत्र के गांव लभारी में तीन बदमाशों ने फसल की रखवाली करने के दौरान किसान दाताराम और गढ़िया नगला निवासी मुनेश को पैर में गोली मारी थी। मुनेश ने बताया था कि बदमाशों की संख्या तीन थी।

Budaun News

उन्होंने गोली मारने के बाद उसे 950 रुपये और कछला निवासी नजीम व जूने आलम के नाम का विजिटिंग कार्ड दिया था। वारदात के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए थे, लेकिन रुपये देने और विजिटिंग कार्ड देने की बात पुलिस को हजम नहीं हो रही थी।

थाना पुलिस ने इसी आधार पर अपनी छानबीन शुरू कर दी थी। पुलिस ने विजिटिंग कार्ड के आधार पर नजीम और जूने आलम से जानकारी की तो उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले कछला गंगा घाट पर उनके साले कमल हसन की लाठी-डंडे से पीटकर हत्या कर दी गई थी।

Budaun News

इसमें पुलिस ने पांच लोगों को जेल भेजा था। शायद उनमें से कोई आरोपी हो सकता है। छानबीन के दौरान मंगलवार रात पुलिस ने जोरी नगला तिराहे से कासगंज के सिकंदरपुर वैश्य थाना क्षेत्र के गांव नवाबगंज नगरिया निवासी राजकुमार जोशी और डरैय्या नगला निवासी ज्ञान सिंह शाक्य को दबोच लिया।

दोनों ने पूछताछ में बताया कि इस घटना को अंजाम उनके साथी न्याजी नगला निवासी इरफान ने दिया था। दरअसल इरफान का बेटा इकराम और साले पंखिया नगला के कमल हसन की हत्या में जेल में हैं। 

Budaun News

इरफान कई बार कमल हसन के बहनोई नाजिम और जूने आलम से फैसले की बात कर चुका था लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं थे। इससे उसने दोनों को फंसाने के लिए कादरचौक इलाके में आकर दोनों किसानों को गोली मारी थी और विजिटिंग कार्ड पकड़ाया था।

फिलहाल पुलिस ने राजकुमार और ज्ञान सिंह को जेल भेज दिया है। इरफान की तलाश शुरू कर दी गई है। घटना में शामिल आरोपी ज्ञान सिंह इस समय कादरचौक में रह रहा है। इरफान और राजकुमार उसी के पास पहुंचे थे।

Budaun News

उन्होंने कस्बे से शराब के आठ क्वार्टर खरीदे और कस्बे के दक्षिण दिशा में स्थित एक बाग में जाकर शराब पी और बाइक लेकर निकल गए। उन्होंने लभारी गांव के नजदीक पुलिया के नीचे बाइक छिपाई और फिर किसानों को गोली मारी थी। 

Budaun News

Budaun News