Harda Blast : हादसे में जान बचाकर भाग रहा था 10 साल का बच्चा, एक पत्थर ने कर दिया उसके जीवन में अंधेरा

 
Harda Blast
हरदा हादसे में एक दस साल के बच्चे ने आंखों की रोशनी गंवा दी है। वहीं दो साल के बच्चे के सिर से पत्थर निकाले गए हैं।

Harda Blast : हरदा हादसे में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी तो कई लोग हादसे में घायल हुए हैं। हादसे के दौरान कई मरीजों को भोपाल रेफर किया गया था। जिनका इलाज हमीदिया और एम्स में चल रहा है। हादसे के दौरान किसी की आंखों की रोशनी चली गई तो किसी के सिर से छोटे-छोटे पत्थर निकाले गए हैं।

इतनी ही नहीं 108 एंबुलेंस की टीम ने लगभग साढ़े चार सौ लोगों को अस्पताल पहुंचाया है। हादसे में एक 10 साल के बच्चे के सिर में गंभीर चोट लगने से आंख की रोशनी चली गई है। एम्स में बच्चे का इलाज चल रहा है।

Harda Blast

डॉक्टरों का कहना है कि पत्थर बच्चे के सिर के पीछे लगा होगा। जहां आंखों से जुड़ी नसें मौजूद होती है। अभी इलाज जारी है, बच्चा भविष्य में देख सकेगा या नहीं यह स्पष्ट रूप से नहीं कहा जा सकता है।एम्स भोपाल में मंगलवार की रात को दो साल के बच्चे के सिर से सर्जरी करके छोटे-छोटे पत्थर निकाले गए हैं।

जानकारी के अनुसार, न्यूरो सर्जरी विभाग की टीम ने तत्काल सर्जरी की योजना बनाई। जिसके बाद ऑपरेशन किया गया। बच्चे की सर्जरी सफल रही है। बुधवार को बच्चा स्टाफ के साथ खेल-कूद रहा था। बच्चे को मानसिक रूप से हादसे से बचाने के लिए उसे व्यस्त रखा जा रहा है।

Harda Blast

खेल-खेल में उसे खाना भी खिलाया गया है,साथ ही बच्चे को खुश रखने का प्रयास भी किया जा रहा है। भोपाल के हमीदिया 27 मरीज और एम्स में 7 मरीजों को रेफर किया गया था। हमीदिया अस्पताल में मंगलवार को 11 मरीजों का 6 घंटे में तत्काल ऑपरेशन भी किया गया था।

अस्पताल में 20 से ज्यादा डॉक्टरों के साथ डेढ़ सौ स्टाफ ने 18 घंटे मोर्चा संभाला था। इन्हें बुधवार की सुबह चार घंटे की छुट्टी दी गई थी। एम्स में भी ऐसी ही स्थिति बनीं रही। 108 एंबुलेंस के करीब साढ़े चार सौ लोगों की टीम ने घायलों को अस्पताल तक पहुंचाने में मदद की थी।

Harda Blast

इसमें 160 ड्राइवर, 120 कॉल सेंटर एजेंट सहित हेल्पर व अन्य लोग शामिल थे। 108 के सीनियर मैनेजर तरुण सिंह ने पत्रिका से बताया कि एंबुलेंस की रियल टाइम मॉनिटरिंग की गई। इसके साथ ही फील्ड यूनिट तैयार की गई थी। जिसमें 11 जिले के स्टाफ को लगाया गया था।

Harda Blast