Kanpur News: दबंग बिल्डर व भाजपा नेता ने ली युवक की जान, परिजनो में मचा कोहराम

 
Kanpur News

Kanpur News: कानपुर के चकेरी के श्यामनगर में कार खड़ी करने के विवाद में दबंग बिल्डर व भाजपा नेता के हमले में घायल युवक की बुधवार तड़के मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद शव घर पहुंचा तो परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर जमकर हंगामा किया।

Kanpur News

हालांकि बाद में पुलिस के समझाने पर वह मान गए। पुलिस ने जानलेवा हमले में दर्ज रिपोर्ट हत्या में तरमीम कर ली है। हमले के आरोपी पिता-पुत्र को गिरफ्तार किया है। अन्य की तलाश में दबिश दी जा रही है। केडीए कालोनी रामपुरम निवासी गिरिजा देवी ने पड़ोसी बिल्डर कमलेश पासवान व उसके बेटे आकाश पासवान, विकास पासवान, रामलाल वर्मा, रामलाल के बेटे भाजपा के श्यामनगर मंडल उपाध्यक्ष चंदन सिंह रजावत व 4-5 अन्य के खिलाफ

Kanpur News

उनपर व बच्चों पर जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि घर के गेट पर ही गाड़ी खड़ी करने पर उनके बेटे सोनू पासवान (32) ने मना किया था तो कमलेश व अन्य ने पहले बेटों पर चापड़, लाठी-डंडों से हमला किया।

Kanpur News

फिर बचाने के लिए पहुंचने पर उन्हें और बेटी नेहा को भी पीटा। इसके बाद से स्वरूपनगर स्थित एक निजी अस्पताल में वह वेंटिलेटर पर था। एसीपी चकेरी दिलीप कुमार ने बताया कि कमलेश और आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य की तलाश में दबिश जारी है।

Kanpur News

साथ ही जानलेवा हमले की धारा को हत्या में तरमीम किया जा रहा है। नाली के विवाद में तीन दिन पहले हुई थी मारपीटपरिजनों ने बताया कि दबंग पड़ोसी किसी न किसी बात पर विवाद करता रहता था। शुक्रवार को भी नाली को लेकर विवाद हुआ था। 

Kanpur News

नाली का विवाद इतना बढ़ गया कि आरोपियों ने सोनू पर सरिया से हमला कर दिया था। उस मामले में भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई बल्कि विवाद का श्यामनगर चौकी में समझौता हो गया। यहां आरोपियों ने माफी मांगी थी। हालांकि इसी के बाद से वह रंजिश मानने लगे थे।

Kanpur News

पिता सोनू का शव देख बेटे समर का गुस्सा थामे नहीं थम रहा था। वह बोला कि कमलेश ने मेरे पापा की जान ली है। वह जिंदा नहीं बचना चाहिए। वह मेरी आंखों के सामने नहीं आना चाहिए। रूंधे गले से उसने सबसे पिता को न ले जाने की अपील की तो कोई भी अपने आंसू नहीं रोक सका। 

Kanpur News

परिजनों ने बताया कि परिवार जाजमऊ के गज्जूपुरवा में रहता था। दो दशक पहले कालोनी में आकर रहने लगा। वह सिलाई व मशीनों की रिपेयरिंग का काम करता था। सोनू घर में सबसे बड़ा है उससे छोटे रिंकू, शिवा और राहुल है। वहीं सात बहनों में पूनम, नीलम, सोनम, आरती, पूजा ,नेहा और सलोनी हैं।

इसमें पूनम और नीलम की शादी हो चुकी है। सोनू के पिता मेवालाल जाजमऊ में मजदूरी करते हैं। 28 मई 2006 को ही सोनू की शादी प्रतापगढ़ की रहने वाली रीता से हुई थी। शादी की चौदहवीं वर्षगांठ पर ही उसकी मौत हो गई। सोनू की पत्नी रीता रोते हुए बोली कि आज ही के दिन मुझे विदा कराकर घर लाए थे और आज के दिन ही अपनी बरात लेकर चले गए। 

Kanpur News

रीता ने बताया कि शादी के चार साल बाद 31 मई 2010 को समर पैदा हुआ था। शादी की सालगिरह, फिर दो दिन बाद 31 मई को बेटे का जन्मदिन मनाने की तैयारी थी। इस दौरान सोनू की मां गिरिजा, बहन सलोनी, नेहा समेत करीबी रिश्तेदार बेहाल रहे।