Kashi Vishwnath Temple: काशी विश्वनाथ मंदिर के आसपास मीट की दुकानों पर नगर निगम का एक्शन, नोटिस किया चस्पा

 
Kashi Vishwnath Temple
काशी विश्वनाथ मंदिर के दो किलोमीटर के दायरे में मांस-मदिरा की दुकानों को प्रतिबंधित किया गया है। इसके बावजूद कुछ दुकानें यहां खोली जा रही हैं। ऐसे में नगर निगम की टीम पुलिस की मदद से दुकानों पर नोटिस चस्पा कर रही है। 

Kashi Vishwnath Temple: काशी विश्वनाथ मंदिर के आसपास की मीट-मछली की दुकानों को अवैध घोषित किया जा रहा है। इसी क्रम में अभियान चलाकर शनिवार को दाल मंडी स्थित जमील अहमद की मुर्गे की दुकान पर नोटिस चस्पा किया। 

बीते 18 जनवरी को नगर निगम सदन ने काशी विश्वनाथ मंदिर के दो किलोमीटर के दायरे में मांस-मदिरा की दुकानों को प्रतिबंधित करने का प्रस्ताव मंजूर किया था। इस प्रस्ताव को अमल में लाने के लिए शुक्रवार को भी नगर निगम और पुलिस की संयुक्त टीम ने अभियान चलाकर पहले दुकानें बंद कराईं और उसके बाद दुकानों के बाहर नोटिस चस्पा किया।

Kashi Vishwnath Temple

नोटिस पर लिखा था यह मुर्गा, मीट की दुकान अवैध है। इसे एक मार्च से बंद कराया गया है। हालांकि टीम के जाते ही कुछ दुकानें फिर से खुल गईं। मांस मदिरा मुक्त काशी का संदेश लेकर तीन जादूगर अयोध्या की यात्रा पर बाइक से निकले।

आगमन संस्था और ब्रह्म सेना की ओर से जादूगर जितेंद्र, रामकृष्णा और मारुति धर्मसंघ से अयोध्या के लिए रवाना हुए। आंख पर पट्टी बांधकर निकले जादूगरों ने लोगों को जागरूक किया। सरकार से मीट-मांस पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की मांग की।

Kashi Vishwnath Temple

दुर्गाकुंड धर्मसंघ के सचिव जगजीतन पांडेय ने हरी झंडी दिखाकर यात्रा को रवाना किया। इस दौरान जन जन की यही पुकार मांस मदिरा मुक्त हो बाबा धाम... के नारे गूंजते रहे। ये जादूगर वाराणसी से जौनपुर, सुल्तानपुर सहित पूरे मार्ग में पंफलेट और पोस्टर के जरिये लोगों को जागरूक करेंगे और जन सहयोग जुटाएंगे। 

अभियान के संयोजक डॉ. संतोष ओझा ने मांग की कि काशी के पंचकोशी क्षेत्र में मांस-मदिरा की बिक्री पर प्रतिबंध लगना चाहिए। इस मौके पर हरिकृष्ण प्रेमी, राहुल गुप्ता, सुनील शुक्ला, सोनू मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Kashi Vishwnath Temple

Kashi Vishwnath Temple