Lucknow Crime: 2 पत्नी, 6 गर्लफ्रेंड और 4 बच्चों को पालने के लिए जिला पंचायत सदस्य बना अपराधी

 
Lucknow Crime: District Panchayat member becomes criminal to support 2 wives, 6 girlfriends and 4 children
लखनऊ में सरोजनी नगर पुलिस ने जिला पंचायत सदस्य रह चुके एक ठग को गिरफ्तार किया है। यह गिरोह रुपए दोगुना करने के नाम पर असली नोटों के बदले नकली नोट थमा कर भाग जाया करता था।

Lucknow Crime: असली नोटों के बदले नकली नोट थमा देने वाले ठग को बुधवार को लखनऊ में सरोजनी नगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने तीन लाख रुपए की ठगी की थी। यह काम वह पिछले 8 सालों से करता आ रहा है।

बता दें कि आरोपी गोंडा जिला पंचायत का सदस्य रह चुका है। आरोपी अजीत मौर्य ने तीन लाख रुपए के बदले छह लाख रुपए देने का लालच देकर धोखाधड़ी को अंजाम दिया था। पुलिस पूछताछ में अजीत ने बताया कि वह ये काम अपनी 2 पतियों, 4 बच्चों और 6 गर्लफ्रेंड को पालने के लिए करता था।

Lucknow Crime

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डीसीपी दक्षिण विनीत जायसवाल ने बताया कि बुधवार को गोण्डा जलालपुर बुधनी बाजार निवासी अजीत मौर्या को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी मौजूदा समय में पीजीआई साउथ सिटी में किराए के मकान में रहता है।

अजीत के खिलाफ उन्नाव के असोहा निवासी धर्मेंद्र कुमार ने मुकदमा दर्ज कराया था। पीड़ित धर्मेंद्र के पास अन्जान नम्बर से कॉल आई थी। फोन पर उसे आधे घंटे में रुपए डबल करने की स्कीम बताई गई। झांसे में आकर धर्मेंद्र ट्रांसपोर्ट नगर पहुंचे। वहां उनसे कुछ युवक मिले।

Lucknow Crime

स्कार्पियो सवार युवकों को धर्मेंद्र ने तीन लाख रुपए दिए। इसके बदले उन्होंने छह लाख रुपए थमा दिए। इसके बाद युवक गाड़ी लेकर भाग निकले। नकली नोट देखकर धर्मेंद्र के होश उड़ गए। वह सरोजनी नगर कोतवाली पहुंचे और मुकदमा दर्ज कराया।

एक कार शो रूम में लगे सीसीटीवी कैमरे से कार का नंबर मिला। उसके साथ ही जिस नंबर से धर्मेंद्र को कॉल आई थी उसे भी सर्विलांस पर लगाया गया। इस गिरोह में मुख्य आरोपी अजीत के साथ दो अन्य लोग भी शामिल है। उनकी तलाश भी जारी है।

Lucknow Crime

आरोपी के मुताबिक वह रेंडम मोबाइल नंबर डायल करता है। इसके बाद आधे घंटे में रूपए डबल करने की स्कीम बताता है। झांसे मेें लाने के लिए पहले वह असली नोट को नकली बता कर दिया जाता है। चिह्नित व्यक्ति नकली नोट समझ कर असली नोट बाजार में चलाता है।

जिससे वह पकड़ में नहीं आता है। इसके बाद लोग खुद ही अजीत से संपर्क करते हैं। फिर उस व्यक्ति को रुपए दोगुने करने का लालच दिया जाता है। उसे अपनी जगह पर ये लोग बुलाते हैं जिसके बाद गिरोह के अन्य सदस्य नकली नोट की गड्डी के ऊपर और नीचे कुछ असली नोट चिपका देते हैं और यही रूपए थमा कर भाग जाते हैं।

Lucknow Crime

पीड़ित से हड़पे गए तीन लाख में से दो लाख 15 हजार रुपए पुलिस ने बरामद किए हैं। वहीं आरोपी के पास से चूरन वाले चिल्ड्रेन बैंक लिखे नोट के साथ कुछ नकली नोट भी मिले हैं। आरोपी ने बताया की वह नेपाल से नकली नोट लाता था, जिसका इस्तेमाल गड्डी बनाने में करता था।

Lucknow Crime

Lucknow Crime