Mukhtar Ansari: बसपा सांसद अफजाल व मुख्तार अंसारी पर गैंगस्टर केस में कुछ देर में आयेगा फैसला

 
Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time
बसपा सांसद अफजाल अंसारी और मुख्‍तार अंसारी के खिलाफ गैंगस्टर कोर्ट में आज फैसला सुनाया जाएगा। इस दौरान गाजीपुर कोर्ट में सुरक्षा के सख्‍त बंदोबस्‍त क‍िए गए हैं। कोर्ट पर‍िसर में भारी फोर्स तैनात की गई है।

Mukhtar Ansari: अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम/एमपी-एमएलए कोर्ट में सांसद अफजाल अंसारी व मुख्तार अंसारी पर चल रहे 15 साल पुराने गैंगस्टर के मुकदमे में फैसला शनिवार (आज) सुनाया जा सकता है। इस फैसले को लेकर जहां जनपद के लोगों को उत्सुकता है, वहीं पुलिस-प्रशासन सतर्क है।

Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time

22 नवंबर 2007 को मुहम्मदाबाद पुलिस ने भांवरकोल और वाराणसी के मामले को गैंग चार्ट में शामिल करते हुए सांसद अफजाल अंसारी और मुख्तार अंसारी के खिलाफ गिरोह बंद अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें सांसद अफजाल अंसारी जमानत पर हैं। 23 सितंबर 2022 को सांसद अफजाल अंसारी एवं मुख्तार अंसारी के विरुद्ध न्यायालय में प्रथम दृष्टया आरोप तय हो चुका है।

Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time

अभियोजन की तरफ से गवाही पूरी होने के बाद बहस पूरी हो गई। फैसले के लिए कोर्ट ने 15 अप्रैल की तिथि नियत की थी, लेकिन पीठासीन अधिकारी के अवकाश पर होने के कारण फैसला नहीं आ सका था। शनिवार को यानी आज फैसला सुनाने की तिथि निर्धारित की गई है।

Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time

गैंगस्टर में इन मुकदमों को बनाया था आधार - पुलिस ने अफजाल अंसारी व मुख्तार अंसारी को गैंगस्टर में निरुद्ध करने में मुहम्मदाबाद से अफजाल को हराकर भाजपा से विधायक बने कृष्णानंद राय की हत्या और कोयला व्यवसायी रुंगटा कांड को आधार बनाया था।

हालांकि दोनों मामले में अफजाल बरी हो चुके हैं। इसी को आधार बनाकर अफजाल ने गैंगस्टर के खिलाफ हाइकोर्ट गए थे। तर्क दिया था कि जब मेन केस में बड़ी हो गए तो इसको आधार बनाकर की गई गैंगस्टर की कार्रवाई निरस्त होनी चाहिए। हालांकि राहत नहीं मिली थी।

Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time

एक नजर में अफजाल अंसारी की राजनीति - गाजीपुर सांसद अफजाल अंसारी वैसे तो छात्र जीवन से ही राजनीति से जुड़े रहे,लेकिन उन्होंने सक्रिय राजनीति में भागीदारी वर्ष 1985 के विधान सभा चुनाव से की। पहली बार वह वर्ष 1985 में भाकपा के टिकट पर चुनाव लड़े और जीतकर विधायक बने।

Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time

इसके बाद उनका जीत का सिलसिला 1989,91,93 व 96 तक चलता रहा। वर्ष 2002 के विधान सभा चुनाव में वह भाजपा के कृष्णानंद राय से चुनाव हार गये। वह वर्ष 1993,96 व 2002 का चुनाव सपा के टिकट पर लड़े।

Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time

विधान सभा चुनाव हारने के बाद पार्टी ने उन्हे वर्ष 2004 में लोकसभा का टिकट दिया। इस चुनाव में वह भाजपा के मनोज सिन्हा को हराए। इस बीच 29 नवंबर 2005 को विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के बाद जेल चले गए।

जेल जाने के दौरान सपा से राजनीतिक मतभेद होने के बाद वह वर्ष 2009 का लोकसभा चुनाव गाजीपुर संसदीय सीट से बसपा के टिकट पर लड़े और चुनाव हार गये। इसके पश्चात उन्होंने अपना कौमी एकता दल बनाया।

Mukhtar Ansari: Decision on BSP MP Afzal and Mukhtar Ansari in gangster case will come in some time

वर्ष 2014 में बलिया संसदीय सीट से चुनाव लड़े लेकिन कामयाबी नहीं मिली। इसके पश्चात वह 2019 में गाजीपुर संसदीय सीट से बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर सप बसपा गठबंधन से चुनाव लड़े और तत्कालीन केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा को हराकर सांसद बने। फिलहाल वह गाजीपुर के सांसद है।