Mukhtar Ansari: माफिया मुख्तार के बुरे दिन नहीं ले रहे खत्म होने का नाम, अब 'पैंथर' ने उड़ाई मुख्तार की नींद

उत्तर प्रदेश का माफिया मुख्तार अंसारी सालों से जेल में सजा काट रहा है।
उसके हर काले कारनामे के लिए उसे कोर्ट से सजा पर सजा मिल रही है लेकिन अबकी बार कोर्ट ने नहीं पैंथर ने उड़ाई है इस माफिया की नींद।
क्या है मुख्तार के खिलाफ प्रोजेक्ट पैंथर जानिए इस रिपोर्ट में।
 
Mukhtar Ansari: Mafia is not taking the name of ending Mukhtar's bad days, now 'Panther' made Mukhtar sleepless

Mukhtar Ansari: मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) सालों से बांदा जेल में बंद है। पिछले 8 महीनों में मुख्तार को पांच बार सजा सुनाई जा चुकी है। अलग-अलग मामलों में मुख्तार दोषी साबित हो चुका है और माना जा रहा है कि वो अब जेल से नहीं छूट पाएगा। खुद मुख्तार अंसारी ने खुद को ये बात समझा ली है। उसे पता है अब जेल से बाहर आना उसके लिए नामुमकिन है, लेकिन इस बार उसके डरने की वजह उसकी सजा नहीं बल्कि पैंथर है।

Mukhtar Ansari: Mafia is not taking the name of ending Mukhtar's bad days, now 'Panther' made Mukhtar sleepless

मुख्तार अंसारी के खिलाफ 'पैंथर' - जी हां प्रोजेक्ट पैंथर (Project Panther) को माफिया मुख्तार के खिलाफ शुरू किया गया है। पुलिस तो पहले ही मुख्तार की पूरी क्राइम कुंडली खंगाल चुकी है। उससे जुड़े सारे अपराध पुलिस की नजर में हैं, लेकिन अब इनकम टैक्स ने भी मुख्तार अंसारी के खिलाफ पैंथर खड़ा कर दिया है। प्रोजेक्ट पैंथर इनकम टैक्स का एक प्रोजेक्ट है। इसके तहत मुख्तार अंसारी की सारी बेनामी संपत्ति ट्रैक हो रही है।

Mukhtar Ansari: Mafia is not taking the name of ending Mukhtar's bad days, now 'Panther' made Mukhtar sleepless

इनकम टैक्स का पैंथर खोजेगा माफिया की बेनामी संपत्ति - अब तक मुख्तार अंसारी की उत्तर प्रदेश वाली बेनामी संपत्तियों का खुलासा तो हो ही चुका था, लेकिन प्रोजेक्ट पैंथर शुरू करने के बाद इनकम टैक्स विभाग ने मुख्तार की उत्तर प्रदेश के बाहर की प्रॉपर्टी की तलाशनी शुरू कर दी है।

सामने आया है कि इस माफिया ने यूपी के अलावा पंजाब और दिल्ली में भी अच्छी खासी बेनामी संपत्ति है। ऑपरेशन पैंथर के तहत पूरे देश में मुख्तार की प्रॉपर्टी की पहचान होनी है और फिर इस संपत्ति को कुर्क किया जाएगा।

Mukhtar Ansari: Mafia is not taking the name of ending Mukhtar's bad days, now 'Panther' made Mukhtar sleepless

मुख्तार के खास गणेश दत्त ने खोले हैं कई अहम राज - दरअसल पिछले हफ्ते इनकम टैक्स विभाग ने मुख्तार अंसारी के खास आदमी गणेश दत्त मिश्र को हिरासत में लिया था। गणेश दत्त मुख्तार का फाइनेंसर है। वो रियल स्टेट कारोबारी है और उसके नाम पर ही ज्यादातर प्रॉपर्टी खरीदी गई हैं।

हिरासत में लेने के बाद गणेश दत्त से पूछताछ हुई थी जिसके बाद ही ही ये ऑपरेशन पैंथर शुरू किया गया। गणेश दत्त को लंबे समय से नोटिस दिया जा रहा था, लेकिन ये बार-बार नोटिस के बावजूद इनकम टैक्स विभाग में पेश नहीं हो रहा था। आखिरकार पिछले हफ्ते मुख्तार के इस करीबी को हिरासत में ले ही लिया गया।

Mukhtar Ansari: Mafia is not taking the name of ending Mukhtar's bad days, now 'Panther' made Mukhtar sleepless

250 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी का खुलासा - पहले मुख्तार से किसी भी कनेक्शन से इनकार करने के बाद आखिरकार गणेश दत्त ने मुख्तार की कई प्रॉपर्टी की जानकारी विभाग को दी है जो अब तक छुपी हुई थीं।

मीडिया में छपी खबरों के मुताबिक कुल 250 करोड़ रुपये की 50 से ज्यादा बेनामी संपत्ति गणेश दत्त के नाम पर ली गई हैं। ये सारी प्रॉपर्टी मुख्तार की ही हैं और माना जा रहा है कि जल्द विभाग इन बेनामी संपत्तियों पर कार्रवाई करेगा। गणेश दत्त का नाम उस वक्त सामने आया था जब मुख्तार की पत्नी अफशां अंसारी कंस्ट्रक्शन केस में फंसी थी।

Mukhtar Ansari: Mafia is not taking the name of ending Mukhtar's bad days, now 'Panther' made Mukhtar sleepless

जेल में पैंथर ने उड़ाई मुख्तार अंसारी की नींद - मुख्तार अंसारी को लग रहा था कि शायद उत्तर प्रदेश से बाहर जो उसकी अवैध और बेनामी संपत्तियां है उनका पता पुलिस और इनकम टैक्स विभाग को न चल पाए, लेकिन अब ये इस माफिया के लिए चिंता का विषय है।

Mukhtar Ansari: Mafia is not taking the name of ending Mukhtar's bad days, now 'Panther' made Mukhtar sleepless

एक तो जेल की कालकोठरी ऊपर इस तरह की खबरें मुख्तार के होश उड़ा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक जल्द ही गणेश दत्त के नाम से ली गई मुख्तार की इन संपत्तियों को कुर्क किया जाएगा।