Umesh Pal Case: तन्हाई में कैद अशरफ, बहन आयशा बोली- योगी अच्छे सीएम

 
Umesh Pal Case: Ashraf imprisoned in loneliness, sister Ayesha said – Yogi is a good CM
अशरफ की बहन आयशा ने कहा कि उसके भाई को राजनीति के तहत फंसाया जा रहा है। वह बेकसूर हैं। आयशा ने योगी आदित्यनाथ को अच्छा सीएम बताते हुए कहा कि उन्हें सरकार और न्यायालय पर पूरा भरोसा है।  

Umesh Pal Case: प्रयागराज से अशरफ को ले जाने आई पुलिस 18 घंटे बरेली में गुजारकर बैरंग लौट गई। अशरफ को ले जाने के लिए फिलहाल कोई तारीख तय की जाएगी या फिर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पेशी होगी, इस पर संशय बरकरार है। शुक्रवार दोपहर बाद प्रयागराज पुलिस प्रिजन वैन लेकर अशरफ को ले जाने बरेली जिला जेल (केंद्रीय जेल-2) परिसर में पहुंची थी। 

वहां अशरफ का प्रोडक्शन बी वारंट और सीजेएम प्रयागराज कोर्ट का आदेश सौंपा था। इसके बाद टीम ने सुबह अशरफ को ले जाने की इच्छा जताई। जेल प्रशासन ने इसकी तैयारी शुरू कर दी और टीम पुलिस लाइन चली गई। सुबह पुलिस टीम अशरफ को लेने जेल पहुंची ही नहीं। शाम को जब यह तय हो गया कि अशरफ को नहीं ले जाया जाएगा तो उसके वकील विजय मिश्रा भी प्रयागराज के लिए रवाना हो गए।

Umesh Pal Case: Ashraf imprisoned in loneliness, sister Ayesha said – Yogi is a good CM

अशरफ की सुरक्षा में ढील का आरोप

अशरफ के वकील विजय मिश्रा ने बताया कि प्रयागराज से आई टीम ने बरेली पुलिस के अधिकारियों को कोई सूचना नहीं दी, न ही पुलिस लाइन में आमद कराई। अशरफ को अवैध हिरासत में ले जाने की तैयारी थी। उन्होंने विरोध किया तो जिला जेल के अधीक्षक ने प्रयागराज पुलिस को कागजात पूरे करके लाने को कहा। 

अब सोमवार या अन्य दिन कागज पूरे होने पर ही अशरफ को निकाला जाएगा। वैसे हाईकोर्ट ने आदेश दे रखा है कि अशरफ को अनावश्यक रूप से जेल से न निकाला जाए। इस बारे में उनके अनुरोध पर सीजेएम प्रयागराज ने भी कमिश्नर प्रयागराज को पत्र लिखा है। उन्होंने भी बरेली जेल में हाईकोर्ट का निर्देश रिसीव कराया है।

Umesh Pal Case: Ashraf imprisoned in loneliness, sister Ayesha said – Yogi is a good CM

रविवार को अवकाश की वजह से पेशी टलने की चर्चा

जेल प्रशासन के मुताबिक बी वारंट व सीजेएम के निर्देश की प्रति प्रयागराज की टीम ने उपलब्ध करा दिया था। बरेली पुलिस लाइन में भी टीम ने आमद कर ली थी और सुबह रवाना हुई। इस लिहाज से विजय मिश्रा के आरोप तर्कसंगत नहीं। सूत्र बताते हैं कि प्रोडक्शन वारंट की स्थिति में संबंधित को सीधे कोर्ट में पेश किया जाता है। शनिवार रात तक टीम अशरफ को लेकर प्रयागराज पहुंचती तो रविवार अवकाश की वजह से उसे कोर्ट में पेश करने में दिक्कत आती। इसलिए टीम ने इसे आगे के लिए टाल दिया।

एलआईयू और जेल अधिकारियों पर उठे सवाल

Umesh Pal Case: Ashraf imprisoned in loneliness, sister Ayesha said – Yogi is a good CM


अशरफ के वकील ने कहा कि जेल में रहकर कोई कैसे हत्या की साजिश रच सकता है, जबकि अशरफ से मुलाकात के दौरान जेल के अधिकारी और एलआईयू के लोग मौजूद रहते हैं। वकील ने अशरफ की हत्या की आशंका जताई है।
 

अतीक के गैंग में शामिल हो सकता है सद्दाम का नाम


उमेश पाल हत्याकांड के बाद अतीक अहमद के कुनबे की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। सूत्रों के मुताबिक अब प्रयागराज पुलिस अतीक अहमद के गैंग चार्ट को नए सिरे से तैयार करने जा रही है। इसमें अतीक और अशरफ के मददगारों के अलावा उमेश पाल की हत्या की साजिश में शामिल लोगों के नाम बढ़ाए जा सकते हैं। पुलिस अशरफ के साले सद्दाम के साथ कई नए लोगों के नाम इसमें बढ़ा सकती है।

Umesh Pal Case: Ashraf imprisoned in loneliness, sister Ayesha said – Yogi is a good CM

अशरफ की बहन आयशा ने कहा कि उसके भाई को राजनीति के तहत फंसाया जा रहा है। वह बेकसूर हैं। उसका और उसके परिवार का उत्पीड़न किया जा रहा है। उमेश पाल हत्याकांड की सीबीआई जांच होनी चाहिए। आयशा और जैनब ने योगी को अच्छा सीएम बताते हुए कहा कि उन्हें सरकार और न्यायालय पर पूरा भरोसा है। 

जेल वार्डरों की जमानत अर्जी पर सुनवाई छह को 

Umesh Pal Case: Ashraf imprisoned in loneliness, sister Ayesha said – Yogi is a good CM


अशरफ की मदद करने के आरोप में जेल भेजे गए वार्डर शिवहरि अवस्थी और मनोज गौड़ की जमानत अर्जी पर शनिवार को सुनवाई नहीं हो सकी। जमानत अर्जी दाखिल होने के बाद न्यायालय द्वारा बिथरी चैनपुर पुलिस से रिपोर्ट मांगी गई थी। रिपोर्ट न मिलने के कारण सुनवाई टल गई। अदालत ने जमानत अर्जी पर सुनवाई के लिए छह अप्रैल की तारीख नियत की है।