UP Election: अतीक-अशरफ फैक्टर से चुनावी पारा चढ़ा, जनसभा में योगी ने दिया अहम बयान

 
UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting
पश्चिमी यूपी की राजनीति को अतीक-अशरफ फैक्टर की एंट्री ने नई दिशा में मोड़ दिया है। निकाय चुनाव की हांडी पर नगरीय विकास से ज्यादा अपराध नियंत्रण का मुद्दा पक रहा है। सहारनपुर और शामली से चुनावी शंखनाद करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी ने बिना नाम लिए बयानों के तीर छोड़े।

UP Election: पश्चिमी यूपी की राजनीति को अतीक-अशरफ फैक्टर की एंट्री ने नई दिशा में मोड़ दिया है। निकाय चुनाव की हांडी पर नगरीय विकास से ज्यादा अपराध नियंत्रण का मुद्दा पक रहा है। सहारनपुर और शामली से चुनावी शंखनाद करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिना नाम लिए बयानों के तीर छोड़े।

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

वहीं, सहारनपुर विधायक राजीव गुंबर, केंद्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान, पूर्व विधायक इमरान मसूद एवं संगीत सोम समेत कई दिग्गजों के बयानों से राजनीतिक लहरें उफन गईं। भाजपा जहां कानून के बहाने इस मुद्दे को छेड़ रही, वहीं विरोधी दलों ने इसे पुलिस अभिरक्षा में हत्या बताकर योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है।

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

पश्चिमी यूपी से नए राजनीतिक मुद्दे उभरते रहे हैं तो पूर्वांचल से रणनीति को धार मिलती रही है। 2013 मुजफ्फरनगर दंगों ने 2014 लोकसभा चुनाव का समीकरण बदल दिया तो बाद में कैराना पलायन व अन्य मुद्दों की तपिश 2017 एवं 2022 में महसूस हुई। अब नगर निकाय चुनाव पर अतीक-अशरफ हत्याकांड का असर दिख रहा है।

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

सीएम योगी ने शामली में ‘आज कई माफियाओं के घर कोई रोने वाला नहीं बचा है’ कहकर इरादों को साफ कर दिया। कुछ दिन पहले सहारनपुर शहर विधायक राजीव गुंबर ने पूछा था कि ‘बताओ अतीक-अशरफ को ऊपर पहुंचाया की नहीं’ जिससे एकबारगी भाजपा भी असहज हो गई।

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

केंद्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान ने कहा था कि ‘घटना बेशक दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन अतीक-अशरफ हत्याकांड से अब युवक माफियागीरी के ग्लैमर से दूर रहेंगे। योगी सरकार में न्याय हो रहा, जबकि सपा सरकार में तो विधायक मारे जाते थे।’

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

भाजपा एमएलसी धर्मेंद्र भारद्वाज ने याद दिलाया कि सीएम योगी ने कहा था कि ‘उमेश पाल हत्याकांड के आरोपियों को मिट्टी में मिला देंगे और परिस्थिति ऐसी बनी कि अतीक-अशरफ वाकई मिट्टी में मिल गए।’

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

सहारनपुर के बसपा नेता एवं पूर्व विधायक इमरान मसूद ने मीडिया से कहा था कि ‘अब तो डर लगता है न जाने कौन कब गोली मार दे’। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने एक पंचायत में योगी सरकार को घेरते हुए कहा कि ‘सरकार ने कोर्ट को दरकिनार कर चार दिन के अंदर अतीक का परिवार तहस-नहस कर दिया, जो गलत है। ‘मेरठ में बसपा के महापौर प्रत्याशी हशमत ने कहा कि ‘अगर अखिलेश, योगी सरकार को न उकसाते तो यह हत्या न होती’।

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

नगरीय निकाय चुनाव में बड़ी तैयारी के साथ उतर रही समाजवादी पार्टी ने इस बार बड़े शहरों यानी नगर निगमों में फोकस बढ़ाया है। अधिकतर नगर निगमों में लंबे समय से भाजपा के मेयर रहे हैं इसलिए सपा इन शहरों की समस्याओं को चुनावी मुद्दा बना रही है। सपा इन्हीं समस्याओं को जनता के बीच उठाकर भाजपा को घेरने की तैयारी कर रही है।

UP Election: Electoral mercury rose due to Atiq-Ashraf factor, Yogi gave an important statement in the public meeting

बसपा सुप्रीमो मायावती ने नगरीय निकाय चुनाव के बहाने सत्ताधारी दल भाजपा के साथ-साथ मुख्य विपक्षी दल सपा पर एक बार फिर हमला बोला है। निकाय चुनाव को लेकर भाजपा और सपा की घोषणाओं पर तंज कसते हुए मायावती ने मतदाताओं को इनसे सावधान रहने की नसीहत दी है।