UP News: जाको राखे साइयां मार सके न कोय..., मरी बेटी को जिंदा देख पिता के छलके आंसू

 
UP News: Jako rakhe saiyaan nahi koi nahi koi..., father shed tears seeing dead daughter alive
जाको राखे साइयां मार सके न कोय बाल न बांका करि सके जो जग बैरी होय इन लाइनों को कानपुर के कांशीराम अस्‍पताल में जन्‍मी एक बच्‍ची ने सच कर द‍िखाया। आज जब उसका जन्‍म हुआ तो डाक्‍टरों ने उसे मृत बताया। स्‍वजन उसके शव को गंगा में बहाने ले गए। तभी उसकी सांसें चल उठी। ये देख स्‍वजन उसे फ‍िर से अस्‍पताल ले आए।

UP News: Jako rakhe saiyaan nahi koi nahi koi..., father shed tears seeing dead daughter alive

UP News: कांशीराम अस्पताल में एक गर्भवती का पांच माह में ही प्रसव हो गया। डाक्टर ने जन्मी बच्ची को मृत बता कपड़े में लपेटकर स्वजन को सौंप दिया। घर पहुंच स्वजन शव को गंगा में बहाने जा रहे थे। तभी उसमें सांस चलने लगी। उसे जिंदा देख लोगों की भीड़ जुट गई।

UP News: Jako rakhe saiyaan nahi koi nahi koi..., father shed tears seeing dead daughter alive

बच्ची को वापस कांशीराम असोटाल लेकर पहुंचे तो डाक्टर ने साफ इनकार कर दिया कि उनके यहां प्रसव हुआ ही नहीं है। काफी हंगामे के बाद डाक्टर ने बच्ची को भर्ती कर इलाज शुरू किया। जाजमऊ तिवारीपुर निवासी ई रिक्शा चालक राजकुमार की पत्नी मीनू पांच माह की गर्भवती थी।

UP News: Jako rakhe saiyaan nahi koi nahi koi..., father shed tears seeing dead daughter alive

वह रामादेवी स्थित कांशीराम अस्पताल में रूटीन में जांच भी कराती थी।गुरुवार देर रात मीनू को प्रसव पीड़ा हुई तो उसे स्वजन कांशीराम अस्पताल ले गए।राजकुमार के भाई राज किशोर ने बताया कि सुबह करीब चार बजे नार्मल डिलीवरी हुई और भाभी ने एक बच्ची को जन्म दिया।

UP News: Jako rakhe saiyaan nahi koi nahi koi..., father shed tears seeing dead daughter alive

12 साल बाद उनकी दूसरी बच्ची हुई,लेकिन डाक्टर ने बताया कि पांच माह में प्रसव होने से बच्ची मृत हुई है। उन्होंने कपड़े में लपेटकर शव स्वजन को सौंप दिया। परिवार दुखी मन से घर पहुंचे और रिश्तेदारों को सूचना दी। गंगा में अंतिम संस्कार के लिए सब चलने के लिए सब तैयार थे।

UP News: Jako rakhe saiyaan nahi koi nahi koi..., father shed tears seeing dead daughter alive

जैसे ही कपड़ा खोला तो बच्ची की सांसे चल रही थी। वे लोग वापस अस्पताल पहुंचे, लेकिन कांशीराम अस्पताल के डाक्टर कहने लगे उनके यहां प्रसव ही नहीं हुआ। यह सुनकर सभी भड़क गए और हंगामा किया। इसके बाद उसे भर्ती किया गया।

UP News: Jako rakhe saiyaan nahi koi nahi koi..., father shed tears seeing dead daughter alive