समृद्ध भारत के लिए हर व्यक्ति को अपने स्तर पर प्रयास करना होगा : योगी

 
समृद्ध भारत के लिए हर व्यक्ति को अपने स्तर पर प्रयास करना होगा : योगी
योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने आगामी 25 वर्षों के लिए एक अमृत काल हम सभी के सामने निर्धारित किया है।

देश में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। देश को आजाद हुए 75 वर्ष हो गए हैं। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में आज आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम में भाग लिया। उन्होंने लखनऊ में तिरंगा बाइक रैली को हरी झंडी पर दिखाई। इस अवसर पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एक समृद्ध और सुरक्षित भारत के लिए हर किसी को अपने स्तर पर प्रयास करना होगा। अपने संबोधन में योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने आगामी 25 वर्षों के लिए एक अमृत काल हम सभी के सामने निर्धारित किया है, कि आगामी 25 वर्षों के लिए हमारी कार्ययोजना क्या होगी? हमें अपने भारत को कहां ले जाना है?

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एक समृद्ध और सुरक्षित भारत के लिए हर व्यक्ति को अपने स्तर पर प्रयास करना होगा। अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करना होगा। ईमानदारी के साथ किए गए प्रयास, सार्थक परिणाम हमारे सामने प्रस्तुत करेंगे। इससे पहले योगी आदित्‍यनाथ ने देश के वीर जवानों की सराहना करते हुए शनिवार को कहा था कि देश के लिए जब भी उन्हें सर्वोच्च बलिदान देने की आवश्यकता पड़ी, तो उन्होंने कभी संकोच नहीं किया। उन्‍होंने कहा, ‘‘वैश्विक मंच पर भी भारत के जवान शांति एवं सुरक्षा की स्थापना के लिए अपने शौर्य एवं पराक्रम का परिचय देते हैं। हमारे जवान हमेशा देश के बारे में सोचते हैं। जब भी उन्हें सर्वोच्च बलिदान देने की आवश्यकता पड़ी, तो उन्होंने कभी संकोच नहीं किया। 

योगी ने देश के जवानों से कहा से कहा कि दुश्मन के लिए आप जितने सख्त हैं, अपने देश पर आने वाली किसी भी आपदा के दौरान आप उतने ही संवेदनशील हैं। उन्होंने कहा कि वीर जवानों, उनके परिवारों तथा वीर माताओं को सम्मानित करने के इस कार्यक्रम से जुड़कर उन्हें अत्यंत गौरव की अनुभूति हुई है। योगी ने कहा कि आजादी के बाद भी भारत की सुरक्षा, एकता एवं अखण्डता को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए 1947-48, 1962, 1971 तथा 1999 में हुए युद्धों से देश को जूझना पड़ा था। अनेक अन्य अवसरों पर भी भारत के बहादुर जवानों ने देश की एकता एवं अखण्डता को बनाए रखते हुए उसकी स्वाधीनता की रक्षा करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।