Varanasi Crime: सराफा कारोबारी के घर असलहे से लैस पहुंचे बदमाश, महिला की सूझबूझ से पड़ा भागना

 
Varanasi Crime
सराफा कारोबारी का घर बाहर से अंदर तक सीसी कैमरे से लैस है। वह अन्य सराफा कारोबारियों को अपने घर के अंदर बुलाकर ही आभूषण के लेनदेन का काम करते हैं।

Varanasi Crime: जनपद के कोतवाली थाना क्षेत्र के बुलानाला इलाके में मंगलवार की सुबह असलहे से लैस चार बदमाश सराफा के एक थोक कारोबारी के घर जा धमके। कारोबारी और उनके परिजनों ने सीसी कैमरे के निगरानी में अनजान चेहरों को देखकर सूझबूझ दिखाते हुए घर के अंदर का दरवाजा ही नहीं खोला।

लगभग दो मिनट तक बदमाशों ने दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। इसके बाद बदमाश पैदल ही गली से होते हुए कालभैरव मंदिर की ओर निकल गए। सीसी कैमरे की फुटेज के आधार पर कोतवाली थाने की पुलिस और क्राइम ब्रांच की पांच टीमें बदमाशों की तलाश कर रही हैं।

Varanasi Crime

कोतवाली थाना क्षेत्र के बुलानाला में सराफा कारोबारी वल्लभ दास अग्रवाल का दो मंजिला मकान है। वह अपने मकान में ही सोने-चांदी के गहने तैयार कराकर सराफा कारोबारियों को बेचते हैं। सोमवार की सुबह 9:15 बजे वल्लभ दास अग्रवाल के मकान का मुख्य गेट खोलकर असलहे से लैस चार बदमाश घुसे।

चारों सीढ़ी चढ़ कर घर के अंदर के दरवाजे तक पहुंच गए और घंटी बजाए। कारोबारी और उनके परिवार के सदस्यों ने सीसी कैमरे के मॉनिटर में अपरिचित चेहरों को देखकर दरवाजा नहीं खोला। बदमाश दरवाजा खुलवाने का प्रयास करते रहे और अंदर से नाम-पता पूछे जाने पर इधर-उधर की बातें करते रहे।

Varanasi Crime

दरवाजा खुलवाने में सफलता न मिलने पर सभी सीढ़ी से उतर कर चले गए। सारा घटनाक्रम कारोबारी के घर में लगे सीसी कैमरों में कैद हुआ है। कारोबारी ने असलहे से लैस बदमाशों की करतूत की सूचना कोतवाली थाने की पुलिस को दी।

इस संबंध में एसीपी कोतवाली अमित कुमार पांडेय ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है। सूचना मिलते ही सीसी कैमरों की फुटेज की मदद से बदमाशों की तलाश शुरू कर दी गई है। बदमाशों में से एक पिट्ठू बैग लिया हुआ था।

सीढ़ी चढ़ने से पहले बदमाशों ने सराफा कारोबारी के घर के नीचे का दरवाजा बंद कर दिया था। चारों बदमाश सराफा कारोबारी के घर के अंदर वाले दरवाजे के सामने पहुंचे तो उनमें से एक ने पिट्ठू बैग से पिस्टल निकाली।

Varanasi Crime

इसके बाद हाथ में पिस्टल लेकर एक बदमाश ने घंटी बजाकर कारोबारी के घर का अंदर का दरवाजा खुलवाने का प्रयास शुरू किया। पुलिस के अनुसार सराफा कारोबारी का घर बाहर से अंदर तक सीसी कैमरे से लैस है।

वह अन्य सराफा कारोबारियों को अपने घर के अंदर बुलाकर ही आभूषण के लेनदेन का काम करते हैं। पुलिस का कहना है कि कारोबारी के घर का पूरा जायजा लेकर उनके किसी करीबी या किसी व्यापारी ने ही लूटपाट की योजना बनाई।

फिर, रेकी कर बदमाशों को कारोबारी के घर भेजा गया। सीसी फुटेज से सामने आया है कि बदमाश दो कार से आए थे। बैकअप के लिए चारों बदमाशों के साथी भी थे। एक कार बाबतपुर मार्ग की ओर जाती देखी गई, जबकि दूसरी कार का पता नहीं लगा। 

Varanasi Crime

सिगरा स्थित सिटी कमांड कंट्रोल रूम से कनेक्ट कैमरों के नेटवर्क को खंगालने के साथ ही पुलिस की तीन अन्य टीमें भदोही, जौनपुर और चंदौली रूट के टोल प्लाजा के सीसी कैमरों की फुटेज भी खंगाल रही हैं। दिनदहाड़े बदमाशों के दुस्साहस की जानकारी पाकर पुलिस एकबारगी सन्न रह गई।

आनन-फानन पुलिस अफसरों ने कारोबारी से बात की। कारोबारी ने पुलिस को बताया कि ईश्वर की कृपा से वह और उनका परिवार सकुशल है। कारोबारी ने कहा कि राहत की बात यह है कि जन-धन की कोई हानि नहीं हुई। इस पर पुलिस ने भी राहत की सांस ली।

Varanasi Crime

चार करोड़ से ज्यादा का सोना लूटा गया था - ज्ञात हो कि 8 अप्रैल 2017 को बुलानाला से कुछ दूरी पर ठठेरी बाजार मोड़ स्थित सराफा कारोबारी संजय अग्रवाल की दुकान में दिनदहाड़े डाका डाला गया था। कारोबारी और उनके कर्मचारियों को बंधक बनाकर डकैत चार करोड़ रुपये से ज्यादा का सोना लूट ले गए थे। इस मामले में 10 बदमाश चिह्नित किए गए थे।

Varanasi Crime