Varanasi Crime: दरोगा पर हमले के एक आरोपी को न्यायालय ने दी जमानत

 
Varanasi Crime
बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अनुज यादव, नरेश यादव व कृष्णा यादव ईलू ने रखा पक्ष 

भुवनेश्वरी मलिक

Varanasi Crime: वाराणसी। दशाश्वमेध थाने पर तैनात दरोगा पर जानलेवा हमला करने व उसकी वर्दी फाड़ने और बिल्ला नोंचने के मामले में एक आरोपित को कोर्ट से राहत मिल गयी।

Varanasi Crime

सोमवार को प्रभारी जिला जज अनिल कुमार पंचम की अदालत ने आरोपित नितेश नरसिंघानिया को एक-एक लाख रुपये की दो जमानत एवं बंध पत्र देने पर रिहा करने का आदेश दिया।

Varanasi Crime

अदालत में बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अनुज यादव, नरेश यादव व कृष्णा यादव ईलू ने पक्ष रखा। प्रकरण के अनुसार दशाश्वमेध थाने पर तैनात उपनिरीक्षक आनंद प्रकाश ने दशाश्वमेध थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

Varanasi Crime

आरोप था कि 7/8 अप्रैल 2024 की रात्रि को वह क्षेत्र में मेरे द्वारा गस्त करते हुए गोदौलिया चौराहे पर पहुंचे, जहां पर दर्शनार्थियों की सुरक्षा के मद्देनजर संदिग्ध व्यक्ति और वाहन की चेकिंग की जा रही थी।

Varanasi Crime

उसी दौरान एक नारंगी रंग की बिना नम्बर प्लेट की बाइक बड़ी तेजी से चलाते हुये एक व्यक्ति बांसफाटक से दशाश्वमेध की तरफ जा रहा था। जब उसे रोक कर जब उनसे वाहन पर नम्बर प्लेट न होने व हेलमेट न लगाने तथा गाड़ी कागजात मांगा गया, तब उक्त वाहन सवार अपशब्दों का प्रयोग करने लगा।

Varanasi Crime

उसी दौरान 2 मोटर साइकिल से कुछ अज्ञात लोग जो इसके साथी थे, आये और 10-15 अन्य अज्ञात लोगो को बुलाये तथा सभी लोग मिलकर मुझे एवं मेरे हमराही पुलिस वालों को गाली गलौज देते हुये धक्का मारकर नीचे गिरा दिया एवं कार्य सरकार में बाधा डालते हुये उस वाहन व उसके चालक को जबरदस्ती छुड़ाकर ले जाने लगे एवं हम पुलिस वालो को अभद्र टिप्पणी एवं गाली गलौज व जान से

Varanasi Crime

मारने की धमकी देते हुये जान से मारने की नीयत से डण्डे से प्रहार किये। जिससे मैं किसी तरह वहां से बच बचाकर अपनी जान बचाई एवं उक्त लोग वाहन चालक व वाहन को जबरदस्ती लेकर चले गये।

Varanasi Crime

इनके इस कृत्य से श्री काशी विश्वनाथ मंदिर दर्शन व गंगा स्नान करने आये हुये दर्शनार्थियों एवं अन्य दुकानदारों के बीच भय का माहौल पैदा हो गया सभी अफरा तफरी में इधर उधर भागने लगे व मेरे वर्दी के बटन बिल्ला स्टार नोंच दिया तथा सरकारी महिन्द्रा थार वाहन में तोड़फोड़ की।

Varanasi Crime

जिससे गाड़ी के आगे दाहिने तरफ का इंडिकेटर फूट गया। बाद में जब वीडियो फुटेज को देखने के बाद कुछ लोगों द्वारा बताया गया कि वीडियो में दिख रहा व्यक्ति नितिश सिंह, नितेश नरसिंघानियां, राहुल सिंह, सन्नी गुप्ता, गप्पू सिंह तथा अन्य सभी अज्ञात लोग है।

Varanasi Crime

इसी मामले में बीते बुधवार को आरोपित नितेश नरसिंघानिया ने कोर्ट में अपने अधिवक्ता के माध्यम से आत्मसमर्पण कर दिया था। वहीं प्रभारी जिला जज अनिल कुमार पंचम की अदालत ने आरोपित नितेश नरसिंघानिया को एक-एक लाख रुपये की दो जमानत एवं बंध पत्र देने पर रिहा करने का आदेश दिया है।

Varanasi Crime