Varanasi Crime: राशन कार्ड में नाम बढ़ाकर हो रहा है फर्जीवाड़ा

 
Varanasi Crime
राशन कार्ड में धोखाधडी से नाम बढ़ा कर तीन वर्षो तक लिया सरकारी अनाज

Varanasi Crime: सिंधौरा (वाराणसी)। सरकार से ग्रामीणों को मिलने वाले राशन को डीलर कई माह में ग्रामीणों को रिफाइंड, चना, नमक भी नहीं दे रहे है। स्थानीय थाना क्षेत्र अंतर्गत मरूई ग्राम पंचायत में गरीबों को मिलने वाले राशन पर डीलर बेखौफ होकर डाका डाल रहे हैं।

वही ग्रामीणों का आरोप है कि डीलर कई माह का पूरा राशन डकार गए हैं। आरोप है कि जब ग्रामीण विरोध करते हैं तो डीलर उनके राशन कार्ड निरस्त करा देते हैं। डीलर ग्रामीणों को प्रति यूनिट 5 किलो राशन न देकर आधा राशन देते हैं।

Varanasi Crime

ग्रामीणों ने बताया कि डीलर गरीबों को मिलने वाले राशन में धांधली कर सरकार की योजनाओं को पलीता लगा रहे हैं। बताया जाता है कि गांव मरूई में शंभू वनवासी के नाम से सस्ते गल्ले की दुकान हैं, परंतु उस दुकान को मनोज कुमार वर्मा पुत्र होरीलाल वर्मा अपने मकान में चला रहे हैं।

वही अगर ताजा मामले पर गौर करे तो दिनांक 26-11- 23 को अजय कुमार मिश्र पुत्र मधुसूदन मिश्र निवासी मरूई ने बताया कि दुकानदार मनोज कुमार वर्मा पुत्र होरीलाल वर्मा जो कि शंभू वनवासी के नाम से आवंटित दुकान को अपने घर में चला रहे हैं।

Varanasi Crime

उनके द्वारा कुटरचना करके मेरे परिवार के नाम राशन कार्ड संख्या 2194740934597 जो मेरी पत्नि निशा मिश्र के नाम लगभग 10 नये लोगों का नाम फर्जी तरीके से जोड़कर कार्ड बनाकर पिछले तीन सालों से सरकारी अनाज को उठाकर बाज़ार में बेच रहे है।

जबकि मैने कभी भी राशन कार्ड के लिय आवेदन भी नही किया है। जब मेरे जानकारी में मामला आया तो मैंने संबन्धित थाने पर इसके खिलाफ कार्यवाही के लिए प्रार्थना पत्र भी दिया है।

Varanasi Crime

Varanasi Crime

Varanasi Crime

Varanasi Crime