Varanasi Crime News: पुलिस टीम पर जानलेवा हमले के मामले में 25 आरोपी हुये दोष मुक्त

 
Varanasi Crime News
अधिवक्ता अनुज यादव, नरेश यादव व चंद्रबली पटेल ने पक्ष रखा

Varanasi Crime News: वाराणसी। अपहरण हुए युवक का पता नहीं चलने से नाराज लोगों द्वारा धरना-प्रदर्शन के दौरान पुलिस टीम पर जानलेवा हमला करने के मामले में 25 आरोपितों को कोर्ट से राहत मिल गई। अपर जिला जज (त्रयोदश) मनोज कुमार सिंह की अदालत ने इस मामले में मुनीब राजभर समेत 25 आरोपितों को साक्ष्य के आभाव में संदेह का लाभ देते हुए दोष मुक्त कर दिया।

अदालत में मुनीब राजभर की ओर से अधिवक्ता अनुज यादव, नरेश यादव व चंद्रबली पटेल ने पक्ष रखा। अभियोजन पक्ष के अनुसार लंका थाना क्षेत्र के चैकी प्रभारी नगवा तहसीलदार सिंह ने लंका थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। आरोप था कि वह लंका थाना क्षेत्र के नगवां से एक युवक के अपहरण के मामले की विवेचना कर रहे थे।

Varanasi Crime News

उसी दौरान मालूम हुआ कि उक्त अभियोग से सम्बन्धित अपहृत राजा साहनी का अभी तक पता न चल पाने की बात को लेकर कुछ लोग मदरवां के सामने 05 अक्टूबर 2010 को मुख्य मार्ग पर रोड जाम करके प्रदर्शन कर रहे है। जिससे आवागमन अवरूद्ध हो गया है।

आने-जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है। एम्बुलेंस की कई गाडियां फंसी हुई है। इस सूचना पर जब वह वहां पहुंचे और उच्चाधिकारियों को घटना की जानकारी दी। जानकारी के बाद सीओ भेलूपुर, लंका थानाप्रभारी भी पुलिस बल के साथ मायके पर पहुंचे तो देखा कि सड़क पर दोनों तरफ से काफी मात्रा में रोड पर वाहन बेतरतीब खड़े है तथा लोग आगे-पीछे गाड़ियों को किनारे एवं बीच में खड़ा किये है।

Varanasi Crime News

एबुलेंस की गाड़ियां फंसी है और साइरन बजा रही है। इस पर पुलिस लोगों को हटाते-बढ़ाते आगे बढ़ा तो देखा कि करीब ढाई तीन सौ लोग बीचों बीच सड़क पर बांस बल्ली लगाकर आवागमन अवरूद्ध किये है। उन्हें समझाने का प्रयास किया तो वह लोग उग्र हो गए। साथ ही पुलिस टीम पर ईंट-पत्थर चलाने लगे।

जिससे सीओ समेत कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसी बीच हमलावरों ने दरोगा तहसीलदार सिंह को जान से मारने की नियत से उनके सिर पर लाठी से प्रहार किया। हालांकि सिर पर हेलमेट होने की वजह से वह बाल-बाल बच गए। इस मामले में पुलिस ने मुनीब चैहान समेत 25 लोगों को आरोपित बनाते हुए उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 149, 427, 353, 332, 336, 307, 504, 506 व धारा 7 क्रिमिनल लाॅ एमेन्डमेंट एक्ट व धारा 3/4 लोक

Varanasi Crime News

सम्पत्ति के नुकसानी (निवारण) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। वहीं दोनो पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद अदालत के द्वारा इस मामले में मुनीब राजभर समेत 25 आरोपियों को साक्ष्य के आभाव में संदेह का लाभ देते हुए दोष मुक्त कर दिया है।

Varanasi Crime News