Varanasi Crime: वाराणसी के दो दबंग बिल्डरों पर दर्ज हुआ विभिन्न धाराओं में मुकदमा

 
Varanasi Crime

Varanasi Crime: देश के प्रधानमंत्री व वाराणसी के सांसद नरेन्द्र मोदी के स्मार्ट सिटी वाराणसी में कुछ तथाकथित बिल्डरों की भारी भीड़ बनी हुयी है। जो अपने आपको स्वघोषीत जिला टाॅप बिल्डर बनाने में लगे हुये है तो वहीं इनके द्वारा गरीब और मजलूम लोगों को आर्थिक रूप से चूना लगाने से भी बाज नहीं आ रहे है।

वहीं यदि बात की जाये तो कुछ ऐसे तथाकथित बिल्डरों की एक फौज आपको नईसड़क, बेनिया, दालमण्डी, पियरी आदि क्षेत्रों में देखने को मिल जायेगी। जिनका पेशा ही बिल्डिंग बनाने या बेचने के नाम पर लोगों को ठगना है।

Varanasi Crime

ऐसे ही दो बिल्डरों पर पीड़ित के द्वारा जनपद के आदमपुर थाने में मुकदमा भी पंजीकृत कराया गया है। अपने शिकायती प्रार्थना पत्र में पीड़ित को एक फ्लैट बेचने के नाम पर 19 लाख रूपये की ठगी और धोखाधड़ी की गयी है।

इस सम्बन्ध में आपको विस्तार से बताते चले कि आदमपुर थाना क्षेत्र के दीवानगंज मुहल्ले के निवासी रियाजुद्दीन खान की एक कपड़े की दुकान नईसड़क कपड़ा मार्केट में है। जिसमें उनके द्वारा बताया गया है कि दो बिल्डरों चांद खान निवासी शेख सलीम फाटक व मोहम्मद सेराज निवासी गोविन्दपुरा कला के द्वारा काजीपुरा कलां थाना लक्सा क्षेत्र के निवासी अशोक कुमार श्रीवास्तव व माया देवी के निर्माणाधीन तीन मंजिला व्यवसायिक व आवासीय कमरों के विक्रय के सम्बन्ध में वार्तालाप किया गया।

Varanasi Crime

वहीं बताया कि वार्तालाप के दौरान उपरोक्त बिल्डरों के द्वारा निर्माणाधीन भवन के द्वितीय तल का 19 लाख रूपये में विक्रय करने को तैयार हो गये। वहीं विपक्षी बिल्डरों के द्वारा उपरोक्त धनराशी कई किश्तों में नगद अपने पारिवारिक सदस्यों व रिश्तेदारों से लेकर पीड़ित के द्वारा गवाहों की मौजूदगी में पूरी धनराशी दी गयी।

जिसका नोटेरियल इकरारनामा दिनांक 5/2/2020 को पीड़ित की पत्नी रोजी व विपक्षी बिल्ड़रों के मध्य किया गया था। आगे बताया कि इसी दौरान कोरोना महामारी के कारण लाकडाउन लग गया और लाकडाउन समाप्त होने के बाद जब पीड़ित के द्वारा उपरोक्त बिल्डरों से इकरारनामा के अनुसार फ्लैट की रजिस्ट्री करने के लिये कई बार कहा तो विपक्षी हीलाहवाली करने लगे।

Varanasi Crime

इसी दौरान दिनांक 26/9/2022 को रजिस्ट्री करने से इन्कार कर दिया गया। वहीं पीड़ित जब भी विपक्षी बिल्डरों से फ्लैट की बिक्री करने या न करने की बात करता और अपना दिया हुआ रूपया वापस करने की बात करता तो ये दोनो दबंग बिल्डर अपनी दबंगई दिखाते हुये पीड़ित के साथ अभद्रता करते हुये मारपीट पर आमादा हो जाते और धमकी दी जाती थी कि पीड़ित को ऐसे मुकदमें में फंसाकर जेल भिजवा देनेा है कि ये अपना पैसा व फ्लैट ही भूल जाये।

विपक्षियों के द्वारा किये गये इस कृत्य से आजिज आकर पीड़ित ने वाराणसी के उच्चाधिकारियो से लेकर थाना आदमपुर तक न्याय के लिये गुहार लगायी जिसमें थाना आदमपुर पर विपक्षी बिल्डरों चांद खान व मोहम्मद सेराज पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया और आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Varanasi Crime