Varanasi Crime: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय को न्यायालय से मिली जमानत

 
Varanasi Crime
अदालत में बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता अनुज यादव ने रखा  पक्ष 

Bhuvaneshwari Mullick

Varanasi Crime: वाराणसी। बगैर अनुमति धरना-प्रदर्शन करने के एक पुराने मामले में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय को न्यायालय द्वारा राहत दी गई है। बताया जाता है कि अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एमपी-एमएलए) उज्जवल उपाध्याय की अदालत ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राय को 25-25 हजार रुपए की दो जमानत एवं बंध पत्र देने पर रिहा करने का आदेश दिया है।

Varanasi Crime

अदालत में बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अनुज यादव ने पक्ष रखा। वहीं अभियोजन पक्ष के अनुसार कोतवाली थाने के उपनिरीक्षक जगदीश प्रसाद के द्वारा 13 जून 2020 को कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी थी।

Varanasi Crime

जिसमें आरोप था कि वह पुलिस टीम के साथ गस्त करते हुए जैसे ही टाउनहाल, मैदागिन आये तो देखा कि कांग्रेस पार्टी के पूर्व विधायक अजय राय, महागर अध्यक्ष राघवेन्द्र चौबे, पूर्व जिलाध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा, जिलाध्यक्ष राजेश्वर सिंह पटेल, फसाहत हुसैन, आशीष केशरी समेत करीब 40-50 लोग बगैर अनुमति के धरना-प्रदर्शन कर रहे थे।

Varanasi Crime

इस दौरान जब पुलिस टीम ने कोविड महामारी का हवाला देते हुए उन लोगों से किसी सक्षम अधिकारी से अनुमति लेकर प्रदर्शन करने की बात कही गई तो वह लोग उग्र हो गए और पुलिस टीम से कहासुनी करने लगे।

Varanasi Crime

इस मामले में पुलिस के द्वारा विभिन्न धाराओं में कोतवाली थाने में मुकदमा पंजीकृत कर करने के बाद 40 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र न्यायालय में प्रेषित किया गया था। इस मामले में अदालत से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय के खिलाफ जमानती वारंट जारी हुआ था।

Varanasi Crime

जिसके बाद उन्होंने अपने अधिवक्ता अनुज यादव के जरिए कोर्ट में समर्पण कर जमानत के लिए अर्जी दी। वहीं न्यायालय के द्वारा दोनो पक्षों के तर्क को सुनने के बाद आरोपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राय को 25-25 हजार रुपए की दो जमानत एवं बंध पत्र देने पर रिहा करने का आदेश दिया है।

Varanasi Crime

Varanasi Crime

Varanasi Crime

Varanasi Crime

Varanasi Crime