Varanasi News: भवन स्वामी ने डीसीपी काशी जोन से लगायी गुहार

बेदखल किरायेदार से त्रस्त भवन स्वामी, मामला चौक थाना क्षेत्र के भीखाशाह गली सराय हड़हा का

 
Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone

Varanasi News: वाराणसी। जनपद के चौक थाना क्षेत्र में एक मकान मालिक व किरायेदार का विवाद काफी बढ़ता ही जा रहा है। जहां दोनो पक्ष एक दूसरे के उपर आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी रखे हुये है।

Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone      Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone

जहां एक ओर किरायेदार का आरोप है कि उससे मकान मालिक के द्वारा जबरन दुकान को खाली करा लिया गया है और दोबारा उसे दुकान नहीं दिया जा रहा है तो वहीं मकान मालिक का कहना है कि उक्त किरायेदार के द्वारा किरायेदारी का एग्रीमेंट किया गया था जिसमें उसका समय भी समाप्त हो चुका है और वह स्वयं दुकान बन्द कर उन्हें सौंप कर जा चुका है, और अब जबरन दुकान लेना चाहता है जो सम्भव नहीं है। 

Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone      Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone

बताते चले कि वाराणसी के चौक थाना क्षेत्र के सराय हड़हा भीखाशाह गली के निवासी मंसूर अहमद की पुश्तैनी मकान है, जिसमें पूर्व से ही कई किरायेदार अपनी दुकानों को चलाते है और अपना व अपने परिवार का भरण पोषण भी करते है।

Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone

जिसमें भवन स्वामी के अनुसार उनका मकान काफी जर्जर होने के कारण उसका निर्माण कार्य भी कराया जा रहा है, जिसके सम्बन्ध में वाराणसी विकास प्राधिकरण से बिना नक्शा व परमिशन के भवन का निर्माण कराये जाने से वाराणसी विकास प्राधिकरण के द्वारा उक्त भवन के निर्माण पर रोक भी लगायी गयी है, जिससे निर्माण कार्य बन्द है। 

Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone

वहीं दूसरी ओर उक्त भवन में पूर्व किरायेदार सरफराज के द्वारा भवन स्वामी मंसूर अहमद से निर्माणाधीन कटरे में दुकान की मांग यह कहते हुये किया जा रहा है कि वो उसमें किरायेदार थे, जिसे भवन निर्माण के पूर्व भवन स्वामी ने उनकी दुकान को खाली करा लिया और अब उन्हें दुकान नहीं दिया जा रहा है।

Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone

जिसे लेकर किरायेदार सरफराज के द्वारा दुकान वापस लेने की गरज से उच्चाधिकारियों को पत्राचार भी किया गया, जिसकी जांच एसीपी दशाश्वमेध अवधेश पाण्डेय के द्वारा की जा रही है।

वहीं इस सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करने के लिये जब भवन स्वामी से सम्पर्क किया गया तो भवन स्वामी मंसूर अहमद के द्वारा दस्तावेजों को दिखाते हुये बताया गया कि सरफराज के द्वारा 11-1-1991 को बकायदा किरायेदारी एग्रीमेंट के जरिये उनको दुकान दिया गया था, जिसमें उनके द्वारा दुकान का आखिरी किराया 30-11-2010 को दिया गया और फिर दुकान खाली करके चाभी सौंप दिया गया।

जबकि किरायेदार सरफराज का मकान भी मेरे मकान के ठीक सामने है और उनके मकान में भी दुकान है जिसे उन्होने किसी अन्य को किराये पर दे रखा है, उसके बाद सरफराज अपनी दुकान न करते हुये मेरे दरवाजे पर रास्ते में चैकी लगाकर दुकान करने लगे, जिस पर उनको मेरे दरवाजे से चैकी हटाने के लिये कहा गया तो अब वो अपने आपको मेरा किरायेदार बताते हुये जबरन दुकान लेना चाहते, जिसे मै नहीं दूंगा।

Varanasi News: Bhavan Swami appealed to DCP Kashi Zone

भवन स्वामी ने आगे बताते हुये कहा कि दुकान न देने की बात जब मेरे द्वारा कही गयी तो सरफराज के द्वारा अपने गुण्डा बदमाश लोगों को साथ लेकर मेरे घर पर चढ़ आये और मेरे पुत्र से कहा कि यदि तुम लोगों ने मुझे दुकान नहीं दिया तो अंजाम बहुत बुरा होगा और फर्जी आरोप लगाते हुये प्रार्थना पत्र थाना, चौकी पर दिया गया जिससे हम दबाव में आकर इनको दुकान दे दे।

वहीं बताया कि मै और मेरा परिवार सरफराज के आतंक से काफी भयभीत है, जिसके सम्बन्ध में हम लोगों ने भी उच्चाधिकारियों से न्याय की गुहार लगाया है।